Sports

पुणे : पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर इस बात से काफी नाराज थे कि शनिवार को यहां एक प्रशंसक ने सुरक्षा घेरे को तोड़कर महाराष्ट्र क्रिकेट स्टेडियम में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चल रहे दूसरे टेस्ट के दौरान मैदान में प्रवेश कर लिया। एक प्रशंसक स्टेडियम की सुरक्षा को तोड़ते हुए रोहित शर्मा के करीब पहुंच गया जो मैच के तीसरे दिन स्लिप में क्षेत्ररक्षण कर रहे थे। उसने रोहित के पैर छुए जिसके बाद सुरक्षा स्टाफ ने उसे मैदान से बाहर किया। इस घटना से क्रिकेटर से कमेंटेटर बने गावस्कर काफी खफा हैं जिन्होंने मैदान के सुरक्षा स्टाफ की जवाबदेही पर सवाल उठाए।

Security personnel are not there to watch the match for free : Gavaskar

गावस्कर कमेंटरी पैनल का हिस्सा हैं, उन्होंने कहा कि इस तरह की घटनाएं इसलिए होती हैं क्योंकि सुरक्षाकर्मी दर्शकों को नहीं देख रहे होते बल्कि मैच देख रहे होते हैं। भारत में हमेशा यह समस्या रही है। उन्होंने कहा-सुरक्षाकर्मी यहां मुफ्त में मैच देखने के लिए नहीं हैं। वे इस तरह की घटनाएं रोकने के लिए हैं। गावस्कर ने कहा कि इस तरह की घटनायें सुरक्षा के लिहाज से काफी जोखिम भरी हैं। 

गावस्कर ने कहा- मैं कहता हूं कि सुरक्षा घेरे की ओर कैमरा रखिए और देखिए कि वे मैच देख रहे हैं या फिर दर्शकों को। उन्होंने कहा कि यह बहुत ही सुरक्षा के लिहाज से खतरनाक मुद्दा है जिसके लिए ही आपको तैनात किया गया है कि आप सुनिश्चित करें कि कोई भी मैदान में नहीं जा सके। इससे कोई भी खिलाड़ी को नुकसान पहुंचा सकता है। ऐसा पहले भी हो चुका है तो जोखिम क्यों लिया जाए। 

Security personnel are not there to watch the match for free : Gavaskar

गावस्कर बोले- दक्षिण अफ्रीका के भारत के मौजूदा दौरे पर यह तीसरी घटना है जब दर्शक मैदान में घुस गया हो। विशाखापत्तनम में पहले टेस्ट में एक प्रशंसक मैदान में घुस गया और उसने भारतीय कप्तान विराट कोहली से हाथ मिलाया और सेल्फी भी लेने की कोशिश की। इससे पहले मोहाली में दोनों टीमों के बीच दूसरे टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच में भी दो बार बाधा उत्पन्न हुई क्योंकि प्रशंसक मैदान में घुस गए थे।
 

.
.
.
.
.