Sports

वेलिंगटन: भारत के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने गुरूवार को यहां कहा कि ऋषभ पंत को स्वीकार करना होगा कि वह खराब दौर से गुजर रहा है और उसे बतौर क्रिकेटर बेहतर होने पर फोकस जारी रखना होगा। बाईस वर्ष के पंत पांच महीने पहले तक सभी प्रारूपों में विकेटकीपर के तौर पर भारत की पहली पसंद थे। उन्होंने सीमित ओवरों के प्रारूप में केएल राहुल को जगह गंवा दी जबकि टेस्ट में रिधिमान साहा विकेटकीपर हैं। 

PunjabKesari
दरअसल, रहाणे ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट से पूर्व कहा, ‘यह स्वीकार करना जरूरी है कि आप कहां खड़े हैं। सकारात्मक रहकर ज्यारा से ज्यादा सीखने की जरूरत है। बात सीनियर या जूनियर की नहीं है।' उन्होंने कहा, ‘किसी को भी बाहर बैठना अच्छा नहीं लगता लेकिन यह स्वीकार करना होगा कि टीम को उस दिन क्या जरूरत है । हर खिलाड़ी के लिए स्थिति को स्वीकार करना अहम है। जो हम नियंत्रण में रख सकते हैं, उसी पर फोकस रखना होगा। बतौर क्रिकेटर मेहनत करते रहना होगा।' 

PunjabKesari
रहाणे ने आगे कहा, ‘हमने इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया में जितने मैच जीते, पहली पारी में 320 या 350 के करीब रन बनाए थे।' भारतीय उपकप्तान ने कहा, ‘हमें पता है कि हमारे गेंदबाज हर हालात में विकेट ले सकते हैं लेकिन टास हारने पर पहले बल्लेबाजी करनी पड़े तो पता होना चाहिये कि हालात का सामना कैसे करना है।' उन्होंने कहा, ‘सीम लेती पिचों पर सही मानसिकता के साथ उतरना जरूरी है । गेंदबाजों पर भी सपाट पिचों पर गेंदबाजी करते समय यही बात लागू होती है। उन्हें सपाट पिचों पर 20 विकेट लेने का भरोसा होना चाहिए।' रहाणे ने कहा कि पिच के भीतर की नमी के कारण गेंद को कुछ टर्न मिलेगा। 

.
.
.
.
.