Sports

दोहा : चोट के कारण लंबे समय तक बाहर रहने के बाद वापसी कर रहे मिडफील्डर आशिक कुरुनियन ने कहा कि गुवाहाटी में फीफा विश्व कप क्वालीफायर के पहले मैच में ओमान के खिलाफ भारत की 1-2 की हार के दौरान वह ऐसे खेले जैसे यह उनके जीवन का अंतिम मैच हो। 22 साल के कुरुनियन ने ओमान के खिलाफ भारत की ओर से प्रभावी प्रदर्शन किया और अपनी गति से कई मौके बनाए। पांच सितंबर को हुए मैच में भारत ने जिस फ्री किक पर अपना एकमात्र गोल दागा वह उन्हीं की बदौलत मिली थी।

कुरुनियन ने कहा, ‘मेरे दिमाग में सिर्फ एक चीज थी- मुझे इस तरह खेलना था जैसे यह मेरे जीवन का अंतिम मैच हो।' उन्होंने कहा, ‘मैंने फैसला किया कि मैं ओमान के खिलाफ अपना सब कुछ झोंक दूंगा। चोट के बाद मैंने कभी नहीं सोचा था कि मुझे इतनी जल्दी वापसी करने का मौका मिलेगा और इसलिए मैं मैदान पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित था।' जनवरी में घुटने की चोट के बाद यह युवा खिलाड़ी सीनियर टीम की ओर से पहला मैच खेल रहा था। 

.
.
.
.
.