Sports

हैदराबाद : वल्र्ड नंबर-2 ताई जू यिंग के नेतृत्व में खेल रही बेंगलुरू रैप्टर्स टीम ने जीएमसी बालयोगी स्टैट्स स्टेडियम में नॉर्थ ईस्टर्न वॉरियर्स को हराते हुए लगातार दूसरी बार स्टार स्पोटर्स प्रीमियर बैडमिंटन लीग (पीबीएल) का खिताब जीत लिया। रैप्टर्स लगातार दो बार चैम्पियन बनने वाली पीबीएल इतिहास की पहली टीम बन गई है। लीग के 5वें सीजन के खिताबी मुकाबले में रैप्टर्स ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 4-2 से जीत हासिल की।

रैप्टर्स के लिए विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाले बी साई प्रणीत, ताई जू यिंग और चान पेंग सून और इयोम हेई वोन की मिश्रित युगल जोड़ी ने जीत हासिल की। सून और वोन ने अपनी टीम के लिए ट्रम्प मैच जीतते हुए उसे चैम्पियन बनाया। रैप्टर्स को हालांकि दिन के दूसरे मुकाबले में हार मिली थी, जो वॉरियर्स का ट्रम्प मैच था लेकिन यिंग ने इसके बाद मिशेल ली को हराते हुए अपनी टीम को 2-2 की बराबरी दिला दी थी।

PBL 5: Bengaluru Raptors became PBL champions

दिन का पहला मुकाबला पुरुष एकल था, जिसमें रैप्टर्स के स्टार खिलाड़ी प्रणीत ने वॉरियर्स के ली चेयुक यियु को 14-15, 15-9, 15-3 से हराया। पहले गेम में दोनों खिलाडिय़ों के बीच कांटे की भिड़ंत चल रही थी। चेयुक ने हालांकि यह गेम 15-14 से अपने नाम किया लेकिन इसके बाद साई ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और अगसे दो गेम 15-9, 15-3 से जीतते हुए अपनी टीम को एक अंक दिला दिया। पीबीएल फाइनल में तीन प्रयासों के बाद प्रणीत को पहली जीत मिली।

दूसरा मुकाबला वॉरियर्स के लिए ट्रम्प मैच था, जिसमें बोडिन इसारा और ली योंग देई का सामना रैप्टर्स के अरुण जॉर्ज और रियान अगुंग सापुत्रो से हुआ। इन दोनों ने यह मैच 15-11, 13-15, 15-14 से जीत लिया और अपनी टीम को दो अंक दिलाते हुए 2-1 से आगे कर दिया। पीबीएल में ट्रम्प मैच जीतने वाली टीम को दो अंक मिलते हैं लेकिन ट्रम्प मैच हारने के कारण कुल स्कोर में से एक अंक कम हो जाता है और एक अंक विपक्षी टीम के खाते में जुड़ता है।

 

अगला मुकाबला महिला एकल था, जिसमें रैप्टर्स की यिंग का सामना वॉरियर्स की मिशेल ली से हुआ। यिंग ने अपनी ख्याति के साथ न्याय करते हुए यह मैच 15-9, 15-12 से अपने नाम किया और अपनी टीम को 2-2 के स्कोर के साथ मुकाबले में वापस लेकर आईं। अगला मुकाबला मिश्रित युगल था, जो बेंगलुरू के लिए ट्रम्प मैच था। इस मैच में रैप्टर्स के लिए कोर्ट पर चान पेंग सून और इयोम हेई वोन उतरे तथा उनके सामने थे वॉरियर्स के कृष्णा प्रसाद गारागा और किम हा ना। सून और वोन ने यह मैच 15-14, 14-15,15-12 से अपने नाम किया।

 

सून और वोन ने पहला गेम 15-14 से अपने नाम किया। दूसरा गेम भी काफी रोमांचक रहा। लगातार बढ़त बनाए रखने वाले सून और वोन ने एक समय 13-9 की बढ़त हासिल कर ली थी लेकिन गारागा और किम ने शानदार वापसी करते हुए यह मैच 15-14 से अपना नाम कर मुकाबले को निर्णायक गेम तक ढकेल दिया। तीसरे गेम में हालांकि रैप्टर्स की जोड़ी ने अपना वर्चस्व दिखाते हुए जीत हासिल की और अपनी टीम को ट्रम्प मैच जीतने के लिए मिलने वाले दो अंकों के साथ चैम्पियन बना दिया। वॉरियर्स पहली बार फाइनल खेलते हुए उपविजेता बनकर ही संतुष्ट हुए।

.
.
.
.
.