Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : भारतीय क्रिकेट टीम के युवा विकेटकीपर बल्लेबाज के बारे में कई दिग्गज खिलाड़ी मानते हैं कि वह महेंद्र सिंह धोनी की जगह ले सही विकल्प हैं। वहीं पंत को कई बार अपनी बल्लेबाजी के कारण आलोचनाओं का सामना भी करना पड़ा है। अब पंत ने उन सभी को जवाब देते हुए कहा है कि उन्हें खैरात में कुछ नहीं मिला है, सभी को खुद को साबित करना होता है। 

एक मीडिया हाउस को इंटरव्यू के दौरान पंत ने कहा कि एक खिलाड़ी को टीम में जल्दी मौका मिलना अच्छी बात है, लेकिन कोई ये नहीं बोलता कि भाई टीम में आजा। उन्होंने कहा, इसके लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। मुझे किसी ने गिफ्ट नहीं दिया है और कुछ फ्री में भी नहीं मिला है। सीधी सी बात है अगर आप अच्छा खेलते हैं तो टीम में आपको जगह मिलती है। कुछ भी खैरात में नहीं मिलता है। सभी को खुद को साबित करना होता है। 

इस दौरान पंत ने धोनी से तुलना होने पर भी बात की और अपने विचार रखे। पंत ने कहा कि मैं उनसे (धोनी से) अपनी तुलना के बारे में नहीं सोचता, मैं बस उनसे सीखता हूं। मैं रातोंरात उनके बराबर खड़ा नहीं हो सकता। उन्होंने मुझे काफी कुछ सिखाया है और मैं उन्हें अपना गुरु मानता हूं। बल्लेबाजी पर बात करते हुए भी पंत ने धोनी का जिक्र किया और कहा बैटिंग पर जाने से पहले वाला माइंडसेट और सबसे जरूरी दबाव वाले पलों में शांत रहना ये सब मैने एमएस धोनी से ही सीखा है। उन्होंने कहा, मैं अपना सर्वश्रेष्‍ठ खेलना चाहता हूं और मेरे आस-पास जो भी लोग हैं, विशेष रूप से सीनियर, उनसे सीखना चाहता हूं। 
 

.
.
.
.
.