Sports

लाहौर : पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज अहमद शहजाद ने जब अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में शुरुआत की थी तब कई दिग्गजों ने उनकी तुलना भारत के स्टार बल्लेबाज विराट कोहली से की थी। लेकिन अभी इसी शहजाद पर डोप परीक्षण में नाकाम रहने पर चार साल का प्रतिबंध लग गया है। शहजाद का अप्रैल हुए घरेलू टूर्नामैंट के दौरान डोप परीक्षण हुआ था। इसकी रिपोर्र्ट में शहजाद दोषी पाए गए हैं। 26 साल के शहजाद के लिए उनके करियर को लेकर यह करारा झटका है।
PunjabKesari
पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने इस खबरों की पुष्टि करते हुए कहा है कि शहजाद को प्रतिबंधित पदार्थों के सेवन का दोषी पाया गया है। शहजाद को 2017 में वेस्टइंडीज दौरे के बाद टेस्ट टीम से बाहर कर दिए गए थे और उन्होंने पिछले साल अक्तूबर से कोई वनडे मैच नहीं खेला है। वह पिछले महीने पाकिस्तान की तरफ से दो अंतरराष्ट्रीय मैचों में खेले थे जिसमें उन्होंने 14 और 24 रन बनाए थे लेकिन जिम्बाब्वे में त्रिकोणीय टी-20 श्रृंखला में नहीं खेले थे।
PunjabKesari
पाकिस्तानी क्रिकेटरों का डोपिंग में नाकाम रहने का पुराना इतिहास है। तेज गेंदबाज शोएब अख्तर और मोहम्मद आसिफ को 2006 में प्रतिबंधित पदार्थों के सेवन का दोषी पाया गया था। बाएं हाथ के स्पिनर रजा हसन को 2015 में जबकि हाल में दो अन्य स्पिनरों यासिर शाह और अब्दुर रहमान को भी डोपिंग का दोषी पाया गया था।

.
.
.
.
.