Sports

पुणे: दिग्गज भारतीय टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस ने कहा कि पेशेवर टेनिस को अलविदा कहने के बाद उनका सपना राहुल द्रविड और पुलेला गोपीचंद से प्रेरणा लेकर इस खेल के चैंपियनों को तैयार करना है। पेस पहले ही 2020 सत्र के बाद संन्यास लेने की घोषणा कर चुके हैं। वह चाहते हैं कि वह राष्ट्रीय बैडमिंटन कोच पुलेला गोपीचंद और अंडर-19 तथा भारत ए क्रिकेट टीम के मेंटोर राहुल द्रविड़ की तरह चैम्पियनों को तैयार करें।

गोपीचंद की देखरेख में साइना नेहवाल और पीवी सिंधु ने भारत को दो ओलंपिक पदक दिलाए जबकि पूर्व क्रिकेट कप्तान द्रविड़ ने अंडर-19 और भारत ए टीमों को तैयार करने में बड़ी भूमिका निभाई है। पेस ने यहां टाटा ओपन महाराष्ट्र के इतर कहा, ‘‘अगर हम भारत के पूर्व खिलाड़ियों को देखें, जिनका मैं काफी सम्मान करता हूं तो वह राहुल द्रविड और पुलेला गोपीचंद होंगे जिन्होंने युवा पीढ़ी को शीर्ष स्तर के खेल के लिए तैयार किया है।'' इस अनुभवी टेनिस खिलाड़ी ने कहा कि टेनिस में भी दूसरे खेलों की तरह युवाओं को आकर्षित करने के लिए बदलाव लाने होंगे।

पेस ने कहा, ‘हमें टेनिस में कुछ नयापन लाना होगा क्योंकि भारत में खेलों में बहुत बड़ी संभावना है, खासकर लीग खेलों को लेकर। टेबल टेनिस, मुक्केबाजी, कुश्ती, बैडमिंटन, कबड्डी जैसे खेल देश में बढ़ रहे हैं।' आठ ग्रैंडस्लैम के विजेता पेस टाटा ओपन महाराष्ट्र में आस्ट्रेलिया के मैथ्यू एबडेन के साथ जोड़ी बनाकर उतरे थे लेकिन पहले दौर में ही गुरुवार को उन्हें रामकुमार रामनाथन और पूरव राजा की जोड़ी से हार का सामना करना पड़ा। पेस ने कहा, ‘पहली सर्विस में 85 प्रतिशत जीत के साथ उन्होंने कमाल का खेल दिखाया। उनकी जोड़ी का खेल अविश्वसनीय था। वे शानदार लय में थे जो भी कर रहे थे सही हो रहा था।'

.
.
.
.
.