Sports

टोक्यो : एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता और टोक्यो ओलम्पिक में भारत की स्वर्ण पदक की उम्मीद पहलवान बजरंग पुनिया यहां शुक्रवार को टोक्यो ओलंपिक में सेमीफाइनल मुकाबले में ओलिंपिक के कांस्य पदक विजेता और तीन बार के विश्व चैंपियन अजरबैजान के हाजी एलियेव से 5-12 से हार गए। बजरंग अब कांस्य पदक के लिए रेपेचेज मुकाबले के विजेता से खेलेंगे। 

एलियेव के खिलाफ मुकाबले में बजरंग शुरुआत से आक्रामक दिखाई दिए और उन्होंने मुकाबले का पहला अंक अलीयेव को पैसिविटी समय की पेनल्टी मिलने से हासिल किया।लेकिन अलीयेव ने वापसी करते हुए लगातार दो-दो अंक हासिल किये और पहले राउंड को 4-1 की बढ़त के साथ समाप्त किया। अलीयेव ने दूसरे राउंड में बजरंग के टखनों को पकड़ा और उन्हें दो बार उमेठते हुए चार अंक हासिल कर लिए। अलीयेव के पास अब मजबूत बढ़त हो चुकी थी। बजरंग ने वापसी करने की कोशिश की लेकिन उनके पास अलीयेव की तकनीकी श्रेष्ठता और ताकत का कोई जवाब नहीं था। 

अलीयेव ने अंक बटोरते हुए यह मुकाबला 12-5 से जीत लिया और फ़ाइनल में पहुंच गए जहां उनका मुकाबला 2018 के विश्व चैंपियन जापान के ताकुतो ऑटोगरो से होगा। इससे पहले बजरंग ईरान के मोट्रेजा घियासी को हरा कर पुरुषों की फ्रीस्टाइल 65 किग्रा वर्ग कुश्ती के सेमीफाइनल में पहुंचे थे। मुकाबले की बात करें तो बजरंग पूनिया ने पहले राउंड में डिफेंसिव खेल दिखाया। मैच रेफरी ने उनके खिलाफ पैसिविटी समय (असक्रिय रहने का जुर्माना) शुरू किया, जिसके चलते मोट्रेजा को एक अंक जरूर मिला, लेकिन बजरंग घबराए नहीं। 

पहले राउंड के बजरंग 0-1 से पिछड़ते दिखे, हालांकि मुकाबले के आखिर के कुछ समय में बजरंग ने पहले एक अंक हासिल किया और फिर अपने विरोधी को चित करके मुकाबला जीत लिया। इससे पहले उन्होंने आज सुबह प्री क्वाटर्र फाइनल मुकाबले में कजाकिस्तान के अकमातालिएव एर्नाजार को हराया था। 

.
.
.
.
.