Sports

पटियाला : एनआईएस पटियाला में एथलेटिक्स और अन्य खेलों में वैज्ञानिक फिटनेस ट्रेनिंग तरीके शुरू करने वाले बाधा दौड़ ओलंपियन जगमोहन सिंह का मंगलवार को दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 88 वर्ष के थे। वह भारतीय खेल प्राधिकरण में संयुक्त महानिदेशक के तौर पर भी काम कर चुके थे। उन्होंने 1960 रोम ओलंपिक की 110 मीटर बाधा दौड़ में देश का प्रतिनिधित्व किया था। वह 1958 से 1960 तक इस स्पर्धा में राष्ट्रीय चैम्पियन रहे थे।

उनके नाम 110 मीटर बाधा दौड़ और डेकाथलन का राष्ट्रीय रिकार्ड भी रहा था। वह सिर्फ अपने समय के शीर्ष एथलीट ही नहीं थे बल्कि वह भारतीय खेल में शिक्षक, कोच, प्रशासक और शारीरिक ट्रेनर के तौर पर भी काम कर चुके थे।

लंबे समय तक भारतीय एथलेटिक्स महासंघ के सचिव रह चुके ललित भनोट ने कहा- जगमोहन ने खेलों में वैज्ञानिक ट्रेनिंग तरीकों की शुरूआत की, विशेषकर एथलेटिक्स में लेकिन हॉकी और साइक्लिंग में भी उन्होंने ऐसा किया। वह इस उम्र में भी बहुत ही सक्रिय रहते थे। हाल में उन्होंने मुझे रिसर्च पेपर भेजे थे।

.
.
.
.
.