Sports

कोलकाता : इस सत्र में आईपीएल में पावरप्ले के ओवरों में सर्वाधिक विकेट लेने वाले भारत और गुजरात टाइटंस के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने सोमवार को कहा कि उनकी सफलता का राज सही जगहों पर गेंद डालना है। शमी ने पावरप्ले के ओवरों में 11 विकेट लिए हैं। 

राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ पहले क्वालीफायर से पूर्व शमी ने कहा कि टी20 क्रिकेट में हमारा फोकस विविधता पर होता है। धीमी गेंद, बाउंसर। लेकिन मेरा मानना है कि सही जगह पर गेंद डालने से रन बनाना मुश्किल हो जाता है। मेरी हमेशा यही रणनीति रहती है। कुछ ओवरों के बाद सफेद गेंद स्विंग नहीं लेती है। ऐसे में नई गेंद के साथ मेरी यही रणनीति रहती है। यह सब अनुभव की बात है। लाइन और लैंग्थ पर नियंत्रण बेहद जरूरी है। टी20 प्रारूप में खेलते समय दिमाग में बहुत कुछ चलता रहता है। 

शमी ने कहा कि उनकी टीम का गेंदबाजी आक्रमण मजबूत है जिससे पावरप्ले में प्रदर्शन अच्छा रहा है। पावरप्ले में अच्छा प्रदर्शन करने से मैच पर पकड़ बन जाती है। इस मैदान को मैं अच्छी तरह समझता हूं और यहां खेलने का अहसास ही अलग है। ईडन पर दर्शकों के सामने एक अलग तरह की ऊर्जा मिलती है। शमी के सामने चुनौती आरेंज कैपधारी जोस बटलर के बल्ले पर अंकुश लगाने की होगी लेकिन वह इसे लेकर ज्यादा चिंतित नहीं हैं। उन्होंने कहा कि एक खिलाड़ी के तौर पर आप बल्लेबाज के बारे में ज्यादा नहीं सोचते। हर बल्लेबाज की एक कमजोरी होती है। आपको अपने हुनर पर भरोसा रखना होता है और मैं वही करता हूं। 

.
.
.
.
.