Sports

अहमदाबाद : भारत के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने चौथे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन इंग्लैंड के कप्तान जो रूट को आउट करने का लुत्फ उठया क्योंकि उन्होंने विरोधी टीम के कप्तान को आउट करने के लिए परफेक्ट रणनीति बनाई थी। सिराज ने इनस्विंग होती गेंद पर रूट को पगबाधा किया। सिराज ने इस विकेट के बारे में कहा कि मैं बाहर की ओर मूव होती गेंदें फेंककर रूट को आउट करने की योजना बनाना चाह रहा था। और नए ओवर की शुरुआत में मैंने सोचा कि मैं एक गेंद को अंदर लेकर आऊंगा। रणनीति को अमलीजामा पहनाकर मुझे बहुत संतोष मिला। मजा आ गया।

PunjabKesari

भारतीय तेज गेंदबाज ने इसी तरह अंदर आती गेंद पर जॉनी बेयरस्टॉ की कमजोरी को भांपा और 146 किमी प्रति घंटा से अधिक रफ्तार से अंदर आती गेंद पर उन्हें पवेलियन भेजा। सिराज ने कहा कि बेयरस्टॉ को शुरुआत में मैं काफी तेजी से गेंद नहीं कर रहा था लेकिन मैंने उसकी जो भी फुटेज देखी हैं, वह अंदर की ओर स्विंग होती गेंद पर आउट होता है। इसलिए मैं एक लाइन और लेंथ पर गेंदबाजी करना चाहता था और लगातार गेंद को अंदर लाना चाहता था और यह काम कर गया।

PunjabKesari

विराट कोहली ने पहले दिन अधिकांश समय सिराज का इस्तेमाल छोटे स्पैल में किया और उनकी योजना दबाव बनाने के लिए लगातार एक ही लाइन और लेंथ के साथ गेंदबाजी करने की थी। सिराज ने कहा कि रणजी ट्रॉफी के समय से ही हमने अच्छी लाइन और लेंथ से गेंदबाजी करनी सीखी है और विशेषकर एक ही स्थान पर बिना काफी चीजें करने का प्रयोग करते हुए। यह सब धैर्य पर निर्भर करता है।

सिराज ने कहा कि काफी रिवर्स स्विंग नहीं मिल रही थी और कोहली ने स्पष्ट कर दिया था कि तेज गेंदबाज एक छोर से गेंदबाजी करेंगे।सिर्फ सामान्य स्विंग मिल रही थी। इसलिए हमें पता था कि तेज गेंदबाज एक छोर से गेंदबाजी करेंगे। सिराज को खुश है कि आस्ट्रेलिया में अजिंक्य रहाणे हों या यहां कोहली, उन्हें लगातार अपने कप्तान से हौसलाअफजाई और समर्थन मिला। पिच के संदर्भ में सिराज ने कहा कि यह बल्लेबाजी के लिए शानदार विकेट है।

.
.
.
.
.