Sports

नई दिल्ली : भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अपने भविष्य को लेकर लगाए जा रहे कयास के बीच वेस्टइंडीज दौरे के लिए खुद को ‘अनुपलब्ध’ करार दिया। प्रादेशिक सेना की पैराशूट रेजिमेंट में मानद लेफ्टिनेंट कर्नल के पद पर तैनात धोनी के बारे में यह पता चला है कि वह अगले 2 महीने अपनी रेजिमेंट के साथ बिताएंगे। बीसीसीआई के एक शीर्ष अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की। बीसीसीआई के अधिकारी ने कहा- धोनी ने वेस्टइंडीज दौरे के लिए खुद को अनुपलब्ध बताया है क्योंकि वह अपने अगले दो महीने अपने अर्धसैनिक रेजिमेंट के साथ बिताएंगे। झारखंड के 38 वर्षीय धोनी ने रविवार को चयन समिति की बैठक से पहले बीसीसीआई को अपने फैसले से अवगत कराया।

Mahendra Singh Dhoni decided to do Army training

अधिकारी ने हालांकि यह स्पष्ट किया कि धोनी अभी क्रिकेट से संन्यास नहीं ले रहे हैं। उन्होंने कहा- हम तीन चीजें कहना चाहते हैं। वह अभी क्रिकेट से संन्यास नहीं ले रहे हैं। वह अपने अर्धसैनिक रेजिमेंट की सेवा के लिए दो महीने का विश्राम ले रहे हैं, जो उन्होंने बहुत पहले तय किया था।

PunjabKesari

वरिष्ठ अधिकारी ने कहा- हमने कप्तान विराट कोहली और चयन समिति के प्रमुख एमएसके प्रसाद को उनके फैसले से अवगत करा देंगे। धोनी के दौरे से बाहर होने के बाद ऋषभ पंत तीनों प्रारूपों में विकेटकीपर बनने की पहली पसंद होंगे, जबकि रिद्धिमान साहा टेस्ट में पंत के साझेदार हो सकते हैं। धोनी बीते दिनों ही रांची पत्नी साक्षी और बेटी जीवा के साथ पहुंचे थे। धौनी के रांची आने के बारे में किसी को सूचना नहीं थी। धोनी सीधे अपने रातू के सिमलिया स्थित आवास पर गए। 

Mahendra Singh Dhoni decided to do Army training

 

 


 

.
.
.
.
.