Sports

सेंट लुईस ,यूएसए ( निकलेश जैन ) अर्मेनिया के शीर्ष शतरंज खिलाड़ी तीन बार ओलंपियाड स्वर्ण पदक विजेता लेवोन अरोनियन अब अर्मेनिया की जगह यूएसए के झंडे तले खेलते नजर आएंगे , इस खबर नें जहां दुनिया भर के उनके प्रशंसकों को चौंका दिया है तो अर्मेनिया शतरंज के लिए यह अच्छी खबर नहीं है । आपको बता दे की जैसे भारत मे क्रिकेट सबसे लोकप्रिय खेल है वैसे अर्मेनिया मे शतरंज ना सिर्फ राष्ट्रीय खेल है बल्कि सबसे लोकप्रिय खेल भी है । वर्तमान मे अरोनियन विश्व के 5 नंबर के खिलाड़ी है और उनके टीम मे शामिल होते ही अमेरिका की टीम अपराजेय नजर आने लगी है । टीम मे विश्व नंबर 2 फबियानों करूआना , विश्व नंबर 9 वेसली सो , विश्व नंबर 14 दोमिंगेज पेरेज और विश्व नंबर 18 हिकारु नाकामुरा पहले सी ही इसे रूस के बाद दूसरी सबसे ताकतवर टीम बनाते है और अब अरोनियन के आने से अमेरिका और रूस के बीच रैंकिंग का मुक़ाबला और कडा हो जाएगा ।

लेवोन अरोनियन के इस निर्णय के पीछे वर्ष 2018 के बाद से राष्ट्रपति बने आर्मेन सर्गस्यन और मौजूदा सरकार के साथ उनके खराब रिश्ते कारण बताए गए है ,खैर कारण जो भी हो फायदा तो अमेरिका को मिल गया है । भारत के लिहाज से यह बदलाव मुश्किले बढ़ाएगा क्यूंकी विश्व नंबर 5 भारत के लिए ओलंपियाड और विश्व टीम मे यूएसए हमेशा से एक कडा प्रतिद्वंदी रहा है  और अब हमें अमेरिका से पार पाने के लिए और ज़ोर लगाना होगा ।

.
.
.
.
.