Sports

पर्थ : ऑस्ट्रेलियाई टीम के मुख्य कोच के पद से विवादित तरीके से रवानगी के बाद जस्टिन लैंगर ने देश के क्रिकेट बोर्ड में राजनीति की आलोचना करते हुए अंतरिम प्रमुख रिचर्ड फ्रेउडेनस्टेन को खास तौर पर लताड़ा है। 

फरवरी में लैंगर ने अनुबंध में छह महीने के विस्तार को स्वीकार करने से इनकार करते हुए मुख्य कोच के पद से इस्तीफा दे दिया था। टी20 विश्व कप में खिताबी जीत और एशेज श्रृंखला जीतने के बाद उन्हें अनुबंध लंबी अवधि के लिये बढाये जाने की उम्मीद है। मार्क वॉ, एडम गिलक्रिस्ट, रिकी पोंटिंग, स्टीव वॉ, मैथ्यू हेडन और दिवंगत शेन वॉर्न समेत कई आस्ट्रेलियाई दिग्गजों ने लैंगर के साथ किए गए बर्ताव की निंदा की थी। 

लैंगर ने यहां एक कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘सबसे पहले उन्होंने (रिचर्ड ने) मुझसे कहा कि तुम्हें यह जानकार अच्छा लग रहा होगा कि तुम्हारे सभी साथी मीडिया के सामने तुम्हारा साथ दे रहे हैं।' उन्होंने कहा, ‘मैने कहा कि बिल्कुल ये सभी ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट के महानतम खिलाड़ी हैं और दुनिया भर में काम करते हैं। अपने कोचिंग कैरियर के 12 साल में मैने पिछले छह महीने सबसे ज्यादा आनंद महसूस किया है। हमने जीता ही नहीं बल्कि मेरे भीतर ऊर्जा थी, फोकस था और मैं खुश था। गंदी राजनीति के बावजूद।' 

उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि क्रिस सिल्वरवुड की रवानगी के बाद इंग्लैंड का कोच बनने के बारे में उन्होंने किसी से बात नहीं की है। उन्होंने कहा, ‘इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एंड्रयू स्ट्रॉस ने मेरे इस्तीफे के एक दिन बाद मुझे फोन किया था। मैं उसे लंबे समय से जानता हूं। उसके अलावा इंग्लिश क्रिकेट में किसी से बात नहीं की।' 

.
.
.
.
.