Sports

मैनचेस्टर: पाकिस्तान के खिलाफ पहले टेस्ट की दूसरी पारी में शानदार अर्धशतक लगाकर इंग्लैंड की जीत के सूत्रधार रहे विकेटकीपर जोस बटलर ने कहा कि इस मैच से पहले उन्हें लगा था कि यह उनका आखिरी टेस्ट हो सकता है। बटलर ने इस मैच से पहले 13 पारियों में सिर्फ एक अर्धशतक लगाया था। तीन मैचों की श्रृंखला के पहले टेस्ट में उन्होंने आक्रामक अंदाज में 75 रन बनाने के साथ क्रिस वोक्स (नाबाद 84) के साथ छठे विकेट के लिए 139 रन की साझेदारी कर टीम की जीत सुनिश्चित की।

PunjabKesari
दरअसल, मैच के बाद क्रिकेट चैनल पर बातचीत के दौरान बटलर ने कहा, ‘मुझे पता है कि मैंने अच्छी विकेटकीपिंग नहीं की, मैंने कुछ मौके गंवाये।  इस स्तर पर आप ऐसा नहीं कर सकते। ऐसे में इस बात पर कोई फर्क नहीं पड़ता की आपने कितने रन बनाए। आपको अच्छा करना (विकेटकीपिंग) होगा, मुझे यह पता है।' उन्होंने कहा कि टीम की जीत में योगदान देने की उन्हें खुशी है। उन्होंने कहा, ‘आपको मैदान से बाहर की चीजों को पीछे छोड़कर यहां मैच की स्थिति पर ध्यान देना होता है। मुझे इस बात की खुशी है कि मैं ऐसा कर सका।' 

PunjabKesari
इस मैच में विकेट के पीछे भी उनका प्रदर्शन औसत रहा था जिसके बाद टीम में उनकी जगह को लेकर आलोचना हो रही थी। श्रृंखला में 1-0 की बढ़त लेने के बाद इंग्लैंड के विकेटकीपर ने कहा, ‘कई बार जब आप अकेले होते है तो आप इस बारे में सोचते है। निश्चित रूप से मेरे मन में ऐसी बातें आ रही थी कि अगर इस मैच में मैं रन बनाने में विफल रहा तो यह मेरा आखिरी टेस्ट मैच होगा।'

.
.
.
.
.