Sports

अहमदाबाद : रविचंद्रन अश्विन ने पहले दो टेस्ट में इंग्लैंड के बल्लेबाजों को काफी परेशान किया और उनकी क्षमता से अच्छी तरह वाकिफ मेहमान टीम के कप्तान जो रूट ने मंगलवार को भारतीय आफ स्पिनर को हर तरह के हालात में ‘विश्व स्तरीय खिलाड़ी’ करार दिया। अश्विन श्रृंखला के पहले दो टेस्ट में 17 विकेट हासिल कर चुके हैं और बुधवार से यहां शुरू हो रहे तीसरे टेस्ट में भी उनके अहम भूमिका निभाने की उम्मीद है।

रूट ने कहा, ‘‘हां, वह (अश्विन) विश्व स्तरीय खिलाड़ी है। मुझे लगता है कि सभी के लिए उसे खेलना आसान नहीं होगा लेकिन जैसा कि आपने कहा, विशेषकर बायें हाथ के बल्लेबाजों को उसके खिलाफ काफी परेशानी होती है क्योंकि आपको पता है कि वह कितना कुशल है, विश्व क्रिकेट में बायें हाथ के बल्लेबाजों के खिलाफ उसका रिकॉर्ड कितना अच्छा है। 34 साल के अश्विन ने पहले टेस्ट में नौ और दूसरे टेस्ट में आठ विकेट चटकाने के अलावा चेन्नई में दूसरे टेस्ट में शतक भी जड़ा जहां टर्न लेती गेंद के खिलाफ अधिकतर विशेषज्ञ बल्लेबाजों को भी परेशानी का सामना करना पड़ा। वह स्वेदश में शानदार गेंदबाज हैं और खिलाड़ियों को कड़ी मेहनत करनी होगी कि उसके खिलाफ कैसे रन बनाने हैं।

इंग्लैंड के कप्तान ने कहा कि उनके अश्विन के शतक के दौरान गौर किया कि उन्होंने किस तरह बायें हाथ के स्पिनर जैक लीच को असहज किया और उन्हें एक निश्चित लाइन और लेंथ से गेंदबाजी नहीं करने दी। रूट ने युवा विकेटकीपर ऋषभ पंत के बल्लेबाजी कौशल की भी तारीफ की लेकिन कहा कि वह विरोधी टीमों को मौके देता है। हमें पता है कि ऋषभ काफी प्रतिभावान है लेकिन वह आपको मौका देता है और इसके लिए तैयार रहना चाहिए। रूट ने नए सिरे से तैयार मोटेरा स्टेडियम की सराहना करते हुए इसे शानदार मैदान करार दिया। उन्होंने कहा कि यह बेजोड़ स्टेडियम है। मुझे यकीन है कि यहां आगामी वर्षों में शानदार क्रिकेट देखने को मिलेगा। उम्मीद करता हूं कि यहां के विकेट पर अच्छा क्रिकेट होगा। मुझे यकीन है कि माहौल शानदार होगा।’’


 

.
.
.
.
.