Sports

कराची : पाकिस्तान के मुख्य कोच और मुख्य चयनकर्ता मिसबाह उल हक ने मंगलवार को कहा कि खिलाड़ियों को टीम हितों को नजरअंदाज करके निजी कारणों से किसी एक या अधिक प्रारूपों को छोड़ने से रोकने के लिये देश के क्रिकेट बोर्ड को नीति बनानी चाहिए। अनुभवी तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर और वहाब रियाज के टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने के फैसले पर प्रतिक्रिया करते हुए मिसबाह ने कहा कि उनका फैसला निराशाजनक है क्योंकि पाकिस्तान को उनकी जरूरत है।

उन्होंने कहा, ‘हमें नीति तैयार करने पर विचार करने की जरूरत है क्योंकि भविष्य में हम अधिक समस्याओं का सामना कर सकते हैं।' मिसबाह ने कहा, ‘जब टीम को किसी खिलाड़ी की जरूरत पड़ती है तो वह किसी एक प्रारूप में नहीं खेलने का फैसला कर देता है तो यह टीम के लिये अच्छा नहीं है। उनकी शीर्ष प्राथमिकता पाकिस्तान के लिये उपलब्ध रहना होना चाहिए।' 

.
.
.
.
.