Sports

अहमदाबाद : भारत के अनुभवी तेज गेंदबाज इशांत शर्मा को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और गृहमंत्री अमित शाह ने यहां बुधवार को उनके 100वें टेस्ट की उपलब्धि के लिए सम्मानित किया जिसके बाद टीम के साथी खिलाड़ियों ने ‘गार्ड ऑफ ऑनर' दिया। पूर्व कप्तान कपिल देव के बाद 100 टेस्ट मैच खेलने वाले 32 वर्षीय इशांत दूसरे भारतीय तेज गेंदबाज हैं। इंग्लैंड के खिलाफ दिन/रात्रि तीसरा टेस्ट शुरू होने से पहले इस तेज गेंदबाज को यहां नरेंद्र मोदी स्टेडियम में राष्ट्रपति कोविंद ने एक स्मृति चिन्ह और शाह ने 100वीं टेस्ट की स्मरणीय कैप सौंपी। 

PunjabKesari

इंग्लैंड ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया जिसके बाद जब भारतीय टीम मैदान में उतरी तो कप्तान विराट कोहली सहित अन्य खिलाड़ी देश के क्रिकेट में उनके इतने लंबे समय से योगदान को सम्मानित करने के लिए एक पंक्ति में खड़े हो गए। भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने ट्वीट किया कि इशांत शर्मा को यहां अहमदाबाद में खेल शुरू होने से पहले भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और भारत के गृहमंत्री अमित शाह ने सम्मानित किया।

PunjabKesari

दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम के उद्घाटन के दौरान खेल मंत्री किरेन रीजीजू और बीसीसीआई सचिव जय शाह भी उपस्थित थे। इशांत ने इस उपलब्धि वाले मैच में डोमिनिक सिब्ली को तीसरे ही ओवर में आउट कर घरेलू टीम को अच्छी शुरूआत करायी। हालांकि उनके करीब डेढ़ दशक के करियर में उनके लिये कई यादगार पल रहे लेकिन मैच से पहले पत्रकारों से बात करते हुए उन्हें एक क्षण के बारे में बताने में मुश्किल हुई।

PunjabKesari

उन्होंने कहा कि अगर आपका करियर 14 साल लंबा हो और आप तब भी खेल रहे हो तो आप एक पल के बारे नहीं बता सकते। एक शानदार पल के बारे में बताना मुश्किल है, हर खिलाड़ी का ग्राफ ऊपर नीचे होता रहता है। चेन्नई में इस महीने के शुरू में इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट के दौरान इशांत टेस्ट क्रिकेट में 300 विकेट चटकाने वाले छठे भारतीय तथा कपिल देव और जहीर खान के बाद देश के तीसरे तेज गेंदबाज बन गये थे। इशांत ने अपना टेस्ट पदार्पण 2007 में बांग्लादेश के खिलाफ किया था। इशांत ने 11 बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट लिये हैं और एक मैच में एक बार 10 विकेट झटके हैं।

.
.
.
.
.