Sports

वेलिंगटन : न्यूजीलैंड के स्पिनर ईश सोढ़ी की नजरों में भारतीय क्रिकेटरों के लिए काफी सम्मान है क्योंकि जब कोई मदद मांगता है तो ये खिलाड़ी अपना अनुभव साझा करने में झिझकते नहीं है। लुधियाना में जन्में इस कलाई के स्पिनर ने कहा कि वह रविचंद्रन अश्विन, रविन्द्र जड़ेजा और युजवेन्द्र चहल को अपना दोस्त मानते है। सोढ़ी ने पीटीआई को दिये साक्षात्कार में कहा कि इन खिलाड़ियों के प्रति आपका सम्मान तब और बढ़ जाता है जब आप उनसे कोई सलाह मांगते है। वे मदद करने में पीछे नहीं हटते और अपने अनुभवों को साझा करने में उन्हें कोई परेशानी नहीं होती। उन्होंने कहा कि चहल शानदार व्यक्ति हैं। वह पूरी तरह से अलग गेंदबाज हैं, वह बड़ा दिल वाला हैं। इन खिलाड़ियों के साथ समय बिताना और उनके अनुभवों को सुनना बहुत अच्छा है।

PunjabKesari

सोढ़ी ने कहा वह अश्विन की गेंदबाजी में विविधता और जडेजा के काम करने के तरीके से प्रभावित है। मैं किसी दिन जड़ेजा से उनके अभ्यास के तरीके के बारे में पूछ रहा था। अश्विन से कैरम बॉल और ऑफ स्पिनर होने के बाद भी इतने प्रभावी तरीके से गुगली करने के बारे में पूछ रहा था। सोढ़ी सिर्फ भारतीय स्पिनरों से ही बात नहीं करते बल्कि वह ऋषभ पंत जैसे बड़े शाट खेलने वाले खिलाड़ियों से यह समझने की कोशिश करते है कि ऐसे बल्लेबाज किस मानसिकता के साथ स्पिनरों का सामना करते है। सोढ़ी ने कहा कि ऋषभ स्पिनरों के खिलाफ सबसे आक्रामक बल्लेबाजों में से एक है। मैं उनसे पूछूंगा कि किस लेंथ की गेंद पर प्रहार करना सबसे मुश्किल होता है। स्पिनरों के खिलाफ आक्रमण करने के मामले में मैंने उसके इतना पहुंच किसी और बल्लेबाज का नहीं देखा है। 

विराट को बताया अक्रामक बल्लेबाज 

भारतीय कप्तान विराट कोहली कई बार लेग स्पिनर की गेंद पर आउट हुए है फिर भी सोढ़ी को इस खिलाड़ी में कोई कमजोरी नहीं दिखती। उन्होंने कहा कि यह सच है कि लेग स्पिनरों ने उन्हें कई बार आउट किया है, लेकिन उन्होंने ऐसे गेंदबाजों के खिलाफ काफी रन भी बनाएं है। विराट ऐसे बल्लेबाज हैं जिन पर आपको लगातार आक्रमण करने की जरूरत है वर्ना वह आपको दबाव में डाल देंगे। आपको उनके खिलाफ योजनाओं के साथ आना होता है और उनके खिलाफ गेंदबाजी करते हुए वास्तव में आपको साहसी होना चाहिए। 

PunjabKesari

आईपीएल में नई जिम्मेदारी निभाने को हैं तैयार

सोढ़ी 27 साल के है लेकिन वह आईपीएल की टीम राजस्थान रायल्स के साथ स्पिन सलाहकार की नई भूमिका में दिखेंगे। उन्होंने कहा कि यह चुनौतीपूर्ण भूमिका है और मैं इसका इंतजार कर रहा हूं। मेरी मुख्य भूमिका स्पिन सलाहकार की होगी जहां स्पिनरों के लिए योजना बनाना होगा। मैं उन्हें उन कुछ विदेशी खिलाड़ियों के बारे में सलाह देने की कोशिश करूंगा जिनका उन्होंने पहले कभी सामना नहीं किया है। सोढ़ी को हालांकि भारत के खिलाफ 21 फरवरी से शुरु हो रहे पहले टेस्ट मैच के लिए चुनी गई 13 सदस्यीय टीम में जगह नहीं मिली है लेकिन उन्होंने वेलिंगटन के बेसिन रिजर्व में खेले जाने वाले इस मुकाबले के लिए स्पिनरों को विकेट के सामने गेंदबाजी करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि स्पिनरों को विकेट के सामने गेंदबाजी करनी होगी। न्यूजीलैंड में जो गेंदबाज गेंद को बल्लेबाजों से दूर की तरफ स्पिन कराते है उनके लिये भी पगबाधा का मौका होता है। आपको भारतीय बल्लेबाजों के खिलाफ चतुराई से क्षेत्ररक्षण के लिए खिलाड़ियों को तैनात करना होगा। 

PunjabKesari

.
.
.
.
.