Sports

स्पोर्ट्स डेस्क: कश्मीर घाटी में बढ़ रहे तनाव के बाद भारत के ऑलराउंडर खिलाड़ी इरफान पठान और जम्मू कश्मीर क्रिकेट के अन्य सदस्यों को जल्द से जल्द राज्य छोड़ने को कहा है। भारत सरकार ने सुरक्षा कारणों से पहले पर्यटकों को अमरनाथ यात्रियों को भी श्रीनगर से बाहर जाने को कहा है। 

PunjabKesari
आपको बता दें कि पठान जम्मू कश्मीर किक्रेट टीम से जुड़े हुए हैं और वह बाकी खिलाड़ियों को परिक्षण दे रहे है। उनके साथ कोच मिसाद कोच मिलाप मेवड़ा और ट्रेनर सुदर्शन को भी राज्य छोड़ने को कहा है। सैयद आशिक हुसैन बुखारी ने कहा कि, 'हम पहले ही 100 से अधिक जम्मू के खिलाड़ियों को भेज चुके हैं, जो शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम में डेरा डाले हुए थे। बुखारी ने कहा कि स्थिति तनावपूर्ण है और यहां तक कि हमें यकीन नहीं है कि क्या होने वाला है, इसलिए हमने क्रिकेट गतिविधियों को स्थगित कर इसे फिर से शुरू करने के लिए सही समय का इंतजार करने का फैसला किया है।

यह घरेलू सत्र से पहले जम्मू कश्मीर क्रिकेट के लिए बड़ा झटका हो सकता है, क्योंकि 17 अगस्त से दलीप ट्रॉफी टूर्नामेंट शुरू हो रहा है। इसके बाद पचास ओवर का घरेलू टूर्नामेंट विजय हजारे ट्रॉफी भी खेला जाएगा और रणजी ट्रॉफी का लीग राउंड नौ दिसंबर से शुरू होने वाला है। राज्य में मची उथल-पुथल ने जम्मू-कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन के सभी क्रिकेट गतिविधियों को निलंबित करने और यहां तक कि 100 से अधिक क्रिकेटरों को घर भेजने के लिए मजबूर किया है। जो श्रीनगर के शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम में डेरा डाले हुए थे।

.
.
.
.
.