Sports

नई दिल्ली: हैदराबाद के खिलाफ क्वालिफायर 2 शुरू होने से पहले दिल्ली कैपिटल्स के कोच रिकी पोंटिंग ने टीम की कमजोरियों और ताकत पर बात की। पोंटिंग ने कहा- मुझे लगता है कि मेरा मूड कभी-कभी खिलाडिय़ों से कहीं ज्यादा बढ़ जाता है। जाहिर है हमने इतनी अच्छी शुरुआत की। एक चरण में हम 7 जीत और 2 हार के साथ बैठे थे। पिछले कुछ सप्ताह से हम अपनी सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट नहीं खेल पाए थे। शीर्ष क्रम पर साझेदारी नहीं हो पाई। फिर गेंद के साथ फिनिश नहीं कर पाए। हमने इन चीजों पर बात की है। लड़के मेहनत कर रहे हैं, उम्मीद है कि सब कुछ ठीक हो जाएगा।

वहीं, आरसीबी के खिलाफ हुए पिछले मैच पर पोंटिंग ने कहा- उस गेम के विभिन्न समयों में मैं एनिमेटेड था। लेकिन अंत में हमारे पास अच्छी यादें आईं। पिछले कुछ हफ्तों में हमने सबसे अच्छा खेल खेला। इस टूर्नामेंट में कोचिंग करना बहुत मजेदार है, निश्चित रूप से खिलाडिय़ों के लिए खेलना भी। शायद यह दुनिया का सबसे अच्छा घरेलू टी-20 टूर्नामेंट है। यहां कोचिंग में बहुत मजा आता है जब आप डगआउट में बैठे होते हो। 

पोंटिंग ने कहा- जाहिर है एक खिलाड़ी या कप्तान के रूप में आप कुछ कर सकते हैं और कोच के रूप में आप कभी-कभी असहाय होते हैं। हमने इस खेल के लिए अपनी तैयारी को नहीं बदला है। हमने कठिन या कम प्रशिक्षण नहीं लिया है। हमारी बैठकें छोटी और बिंदु तक रही हैं।

.
.
.
.
.