Sports

नई दिल्ली : ओलंपिक की तैयारियों के लिए भारतीय खिलाड़ियों का विदेश जाना आम बात है लेकिन अगले साल तोक्यो में होने वाले खेलों के लिए मुक्केबाजी में बदलाव देखने को मिलेगा जिसमें विदेशी मुक्केबाज प्रशिक्षण के लिये भारत आएंगे। अगले साल ओलंपिक के क्वालीफाइंग टूर्नामेंट से पहले खिलाड़ियों को यात्रा संबंधी थकान से बचाने के लिए इस साल दिसंबर के पहले पखवाड़े में विदेशी मुक्केबाजों को भारत बुलाने की योजना है। 

भारतीय मुक्केबाजी के हाई परफार्मेंस निदेशक सैंटियागो नीवा ने कहा, ‘हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि हमारे मुक्केबाज ज्यादा यात्रा कर थके नहीं। मौजूदा सत्र में विभिन्न टूर्नामेंटों में भाग लेने के लिए हम पहले से ही काफी यात्रा कर रहे हैं।' उन्होंने कहा, ‘हमारे लिए यह अच्छा होगा कि अगले साल जनवरी में होने वाले ओलंपिक क्वालीफायर के लिए घर में तैयारी करें।' नीवा ने कहा, ‘मुझे लगता है कि दिसंबर में भारत में मौसम अच्छा रहता है। उस समय यूरोप में काफी ठंड रहती है। हमें उन देशों से सकारात्मक प्रतिक्रिया की उम्मीद है जिन्हें हमने निमंत्रण भेजा है। हम उत्तरी अफ्रीका से भी टीमों को बुलाएंगे।' 

भारतीय पुरूष और महिला मुक्केबाजों के लिए यह साल (2019) काफी व्यस्त है। उन्होंने साल के पहले तीन महीने में बुल्गारिया और फिनलैंड में टूर्नामेंटों में भाग लिया और फिर अप्रैल में एशियाई चैम्पियनशिप हुई। इसके बाद जुलाई-अगस्त के महीने में टीम कजाखस्तान, फिलिपींस और रूस में व्यस्त है। सितंबर में रूस में ही पुरुष और महिला विश्व चैम्पियनशिप होनी है। अक्टूबर में राष्ट्रीय चैम्पियनशिप का आयोजन होगा। नीवा ने कहा, ‘आप देखिए, अगर आप बहुत ज्यादा यात्रा करेंगे तो इससे आप थक सकते हैं जो ओलंपिक क्वालीफायर्स के लिए ठीक नहीं है। बड़ी प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए आपके पास आराम और वापसी करने का पूरा समय होना चाहिए।' 

उन्होंने कहा, ‘बेलारी स्थित इंस्पायर खेल संस्थान (आईआईएस) में हमारे पास अच्छी सुविधा है। हम वहां एक शिविर का आयोजन करेंगे क्योंकि मुझे लगता है कि पटियाला (जहां अभी राष्ट्रीय शिविर जारी है) में अभी सुधार की गुंजाइश है। हम उस पर काम कर रहे हैं और उम्मीद है कि सुधार होगा। इस पर पहले ही चर्चा हो चुकी है।' भारतीय मुक्केबाजी संघ ने आईआईएस के साथ करार किया है। ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता निशानेबाज अभिनव बिंद्रा और पूर्व क्रिकेट कप्तान सौरव गांगुली इसके सलाहकार बोर्ड में शामिल हैं। आईओसी ने कुछ समय पहले विवादों से घिरे एआईबीए से ओलंपिक दर्जा छीन लिया और अब 2020 तोक्यो ओलंपिक के लिये क्वालीफाइंग और फाइनल टूर्नामेंट का आयोजन करेगा। जिससे रूस में होने वाली पुरूषों और महिलाओं की 2019 विश्व चैम्पियनशिप अब ओलंपिक क्वालीफायर भी नहीं है। 

.
.
.
.
.