Sports

 

डेन बोश (नीदरलैंड) : भारत की पुरुष रिकर्व तीरंदाजी टीम ने बुधवार को यहां विश्व चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाते हुए 2020 तोक्यो खेलों के लिए ओलंपिक कोटा हासिल किया जबकि महिला टीम को निराशा हाथ लगी। तरूणदीप राय, अतनु दास और प्रवीण जाधव की टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए प्री क्वार्टर फाइनल में कनाडा को 5-3 से हराया। लंदन ओलंपिक 2012 के बाद यह पहला मौका है जब भारतीय पुरुषों ने टीम कोटा हासिल किया है। भारतीय पुरुष टीम रियो ओलंपिक 2016 के लिए क्वालीफाई करने में विफल रही थी और व्यक्तिगत वर्ग में भी अतनु दास प्री क्वार्टर फाइनल में हार गए थे।

लंदन ओलंपिक में भारतीय टीम का हिस्सा रहे दो बार के ओलंपियन तरूणदीप राय ने कहा, ‘हमने अंतत: कर दिखाया। एक टीम के रूप में हम अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और अब तोक्यो खेलों को लेकर उत्सुक हैं।' उन्होंने कहा, ‘मुझे यकीन है कि विरोधी टीमों पर भी इसी तरह का दबाव है। इसलिए अहम यह है कि धैर्य रखा जाए और यह हमारे लिए अच्छा रहा।' महिला रिकर्व टीम को हालांकि हार का सामना करना पड़ा। सीनियर तीरंदाज बोमबायला देवी एक बार फिर नाकाम रही जबकि कोमालिका बारी की अनुभवहीनता का भारत को नुकसान उठाना पड़ा और टीम अपने से कम रैंकिंग वाले बेलारूस से 2-6 से हार गई। टीम की तीसरी सदस्य दीपिका कुमारी थी।

महिला टीम को ओलंपिक कोटा हासिल करने का अंतिम मौका बर्लिन में 2020 विश्व कप चरण तीन में मिलेगा जहां से शीर्ष तीन टीमें क्वालीफाई करेंगी। क्वालीफाइंग राउंड में छठे स्थान पर रहने के बाद कनाडा को पहले दौर में बाई मिला था। सीधे प्री क्वार्टर फाइनल में खेल रही कनाडा की टीम के खिलाफ भारत ने अच्छी शुरुआत की और भारतीय तिकड़ी ने तीन परफेक्ट शाट से शुरुआत की। भारतीय टीम ने पहला सेट 56-55 से जीता। दूसरे सेट की भी अच्छी शुरुआत करते हुए भारतीय तिकड़ी ने पहले सेट से एक अधिक अंक जुटाया और इसे 57-56 से जीतकर 4-0 की बढ़त बनाई। एरिक पीटर्स, क्रिसपिन डुएनास और ब्रायन मैक्सेल की तिकड़ी ने तीसरा सेट 58-54 से जीतकर मुकाबले को रोमांचक बनाया। भारत को जीत के लिए अंतिम सेट में टाई की दरकार थी और 57-57 के स्कोर से भारत ने मुकाबला 5-3 से जीतकर ओलंपिक कोटा हासिल किया।

क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने वाली टीमों को तीन खिलाड़ियों का पूर्ण कोटा मिलेगा जबकि टीम स्पर्धा में क्वालीफाई नहीं करने वाली टीमों के शीर्ष चार व्यक्तिगत तीरंदाजों को अपने अपने देश के लिए एक स्थान मिलेगा। इसेस पहले 39वें वरीय अभिषेक वर्मा, भगवान दास (35वें) और रजत चौहान (88वें) तथा महिला तीरंदाज ज्योति सुरेखा (17वें) ने कंपाउंड वर्ग के तीसरे दौर में जगह बनाई। रैंकिंग दौर में शीर्ष आठ में जगह बनाने वाली मुस्कान किरार को राउंड आफ 32 में बाई मिला। मुस्कान की अगुआई में भारतीय कंपाउंड टीम ने 2099 अंक के साथ रैंकिंग दौर में कोलंबिया (2111) और कोरिया (2101) के बाद तीसरा स्थान हासिल किया था। टीम ने सीधे प्री क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया और वहां फ्रांस को 236-226 से हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। क्वालीफाइंग राउंड में 14वें स्थान पर रही भारतीय कंपाउंड पुरुष टीम ने पहले दौर में स्पेन को 235-229 से हराकर प्री क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई जहां उसका सामना तीसरे वरीय तुर्की से होगा। भारत कंपाउंड मिश्रित पेयर स्पर्धा में भी पदक की दौड़ में है जहां वर्मा और मुस्कान ने क्वालीफाइंग में शीर्ष आठ में रहते हुए सीधे अंतिम 16 में जगह बनाई जहां उसका सामना जर्मनी से होगा। 

.
.
.
.
.