Sports

नयी दिल्ली : भारतीय पैरा बैडमिंटन टीम ने मनामा में पहली बहरीन पैरा बैडमिंटन इंटरनेशनल चैम्पियनशिप में सात स्वर्ण समेत 23 पदक जीते। प्रतिभाशाली युगल खिलाड़ी मनीषा रामदास ने दो स्वर्ण पदक जीते जबकि नित्या श्री सुमति सिवान (डब्ल्यूएस एसएच6) और डी पांडुरंगन तथा शिवराजन एस (युगल एसएच 6) ने भी स्वर्ण पदक अपने नाम किये। 


दुनिया के नंबर एक पैरा बैडमिंटन खिलाड़ी प्रमोद भगत और तरूण ढिल्लों ने भी स्वर्ण पदक जीते। भगत के साथ मनीषा ने थाईलैंड के सिरिपोंग टीमारोम और निपाडा साएनसुपा को 21.14, 21.11 से हराकर मिश्रित युगल में स्वर्ण जीता। मनीषा और मनदीप कौर ने महिला युगल फाइनल में पलक कोहली और पारूल परमार को 21.11, 21.11 से हराया।


एशियाई युवा पैरा चैम्पियन नित्या ने इंग्लैंड की रशेल चूंग को 21.15, 21.15 से शिकस्त दी जबकि मनदीप को महिला एसएल3 फाइनल में तुर्की की हलीमे यिदिज ने 21.5, 21.17 से हराया। युगल एसएच6 में डी पांडुरंगन और शिवराजन ने हांगकांग के चु मान केइ और वोंग युन यिम के रिटायर होने के बाद स्वर्ण जीता।


भारतीय टीम के मुख्य कोच गौरव खन्ना ने एक विज्ञप्ति में कहा-  हमारे पैरा खिलाड़ियों ने एक बार फिर बेहतरीन प्रदर्शन किया। मैं उनके लगातार अच्छे प्रदर्शन से खुश हूं। हमारा मुख्य फोकस फिटनेस पर रहेगा। भारतीय टीम अब मंगलवार से चौथी फाजा दुबई 2022 पैरा बैडमिंटन इंटरनेशनल चैम्पियनशिप में खेलेगी।

.
.
.
.
.