Sports

केपटाउन : भारतीय कप्तान विराट कोहली से चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे के भविष्य के बारे में पूछा गया तो वह पूरे विश्वास के साथ उनका बचाव नहीं कर पाए और उन्होंने इस संबंध में गेंद चयनकर्ताओं के पाले में डाल दी। पुजारा और रहाणे छह में से पांच पारियों में नाकाम रहे और पूरे वर्ष भर में खास योगदान नहीं दे पाये। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ श्रृंखला में 1-2 से हार के बाद उन पर टीम से बाहर होने का खतरा मंडरा रहा है।

कोहली से मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में जब पुजारा और रहाणे के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मैं यहां यह बात नहीं कर सकता कि भविष्य में क्या होने जा रहा है। मैं यहां पर इस पर चर्चा करने के लिये नहीं बैठा हूं। आपको इस पर चयनकर्ताओं से बात करनी चाहिए। यह मेरा काम नहीं है। 

उन्होंने कहा कि जैसा कि मैंने पहले कहा है वहीं बात मैं फिर से कहूंगा, हम चेतेश्वर और अजिंक्य का समर्थन करना जारी रखेंगे क्योंकि वे जिस तरह के खिलाड़ी हैं, उन्होंने भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में वर्षों से अच्छा प्रदर्शन किया है। जोहानिसबर्ग में उन्होंने महत्वपूर्ण पारी खेली। इस तरह के प्रदर्शनों को हम एक टीम के रूप में मान्यता देते हैं। कोहली ने कहा कि चयनकर्ता क्या फैसला करते हैं, मैं स्पष्ट रूप से यहां बैठकर टिप्पणी नहीं करूंगा।

.
.
.
.
.