Sports

धर्मशाला: विराट कोहली की अगुवाई वाली भारतीय क्रिकेट टीम आज घरेलू मैदान पर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरा टी-20 से अपने अभियान को आगे बढ़ाएगी।जहां सभी की निगाहें दीपक चाहर, नवदीप सैनी और खलील अहमद जैसे युवा चेहरों के प्रदर्शन पर लगी होंगी। क्योंकि भारतीय टीम में जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार नहीं खेल रहे तो ऐसे में नए गेंदबाजों से कप्तान कोहली कैसा प्रदर्शन करवा पाएगा यह भी देखने लायक होगा। आइए आपको बताते हैं कि पहले टी-20 मैच के दौरान भारतीय टीम किन पांच समस्याओं से जूझ सकती है।

1. मौसम भी है सबसे बड़ी चुनौती

PunjabKesari
धर्मशाला में मौसम सबसे बड़ी चुनौती बना हुआ है। शनिवार को सारा दिन रुक-रुककर बारिश होती रही थी। इस कारण स्टेडियम को कवर किया गया था। अनुमान है कि रविवार को भी सारा दिन रुक-रुककर बरसात होने की आशंका है। अगर ऐसा हुआ तो इससे मैच भी प्रभावित होगा।

2. चहल, कुलदीप की भरपाई करना मुश्किल : टीम के सीमित ओवर में दो नियमित स्पिनर युजवेंद्र चहल और चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव को फिलहाल बाहर रखा गया है। उनकी जगह वाशिंगटन सुंदर और राहुल चाहर को मौका दिया गया है। चहल और कुलदीप को टीम में न चुनने पर कोहली ने प्रेस वार्ता के दौरान कहा था कि अब टी-20 में आखिरी नंबर तक बल्लेबाजों की जरूरत होती है। जो बल्ले से प्रदर्शन नहीं कर पाया, उसका स्थान खतरे में है।

3. धवन की फॉर्म भी चिंता का विषय : टीम इंडिया का भले ही ऊपरी क्रम काफी मजबूत हैं। लेकिन शिखर धवन की फॉर्म चिंता का विषय हो सकती है। धवन का वेस्टइंडीज़ में प्रदर्शन निराशाजनक रहा था और उन्होंने तीन टी-20 मैचों में 1 , 23 और 3 रन की पारियां खेली थीं और इस बार घरेलू मैदान पर वापसी करना चाहेंगे। वैसे भी ओपनिंग पर रोहित या केएल राहुल आएंगे या रोहित-धवन, इस पर भी स्थिति असमंजस से भरी हुई है।

IND v SA 1st T 20 : India will face 5 challenges before the match

4. बुमराह-भुवनेश्वर की अनुपस्थिति में इनपर है जिम्मेदारी
नवदीप सैणी : वेस्टइंडीज दौरे से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डैब्यू किया। 3 टी-20 मैचों में 5 विकेट निकाले।
दीपक चाहर : आईपीएल की देन हैं। अब तक एक वनडे और 2 टी-20 मैचों में 5 विकेट निकाल चुके हैं।
खलील अहमद : 11 टी-20 मैचों में 11 विकेट लेने वाले खलील भारत की ओर से 11 वनडे भी खेल चुके हैं।

5. सही संयोजन ढंूढना चुनौती : भारतीय कप्तान एवं कोच रवि शास्त्री ट्वंटी 20 में नए खिलाडिय़ों को मौका देने के पक्षधर रहे हैं। दिग्गज बल्लेबाज विराट की अगुवाई में भारतीय टीम ट्वंटी 20 प्रारूप में अपनी तैयारियों में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है जिसके अधिकतर खिलाड़ी दुनिया की चॢचत ट्वंटी 20 इंडियन प्रीमियर लीग में भी खेलने का अनुभव रखते हैं। लेकिन इन प्लेयरों के साथ टीम का सही संयोजन चुनना अभी भी चुनौती होगा।
 

.
.
.
.
.