Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज के पहले मैच में भारत को 10 विकेट से करारी हार का सामना करना पड़ा है। भारत से मिले 256 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान आरोन फिंच (110) ने डेविड वार्नर (128) के साथ शतकीय पारियां खेली और जीत कर वापस लौटे। इसी के साथ ही भारत को 15 साल बाद सबसे शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा। इससे पहले भारत को 2005 में दस विकेट से हार मिली थी। 

भारत को पहली बार 1981 में न्यूजीलैंड के खिलाफ एमसीजी में 10 विकेट से हार मिली थी। उस समय न्यूजीलैंड को 113 रन का लक्ष्य दिया था। इसके बाद सन् 1997 में भारत को ब्रिजटाउन में वेस्टइंडीज के हाथों 10 विकेट से शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा, उस दौरान लक्ष्य 200 था। इसके बाद साल 2000 और साल 2005 में भारत को दक्षिण अफ्रीका ने 10 विकेट से मात दी थी। इस दौरान दक्षिण अफ्रीका ने क्रमशः 165 और 189 रनों के लक्ष्य को भेदा था। आज (2020) वानखेड़े स्टेडियम में भारत को 15 साल बाद एक बार फिर करारी शिकस्त मिली और ऑस्ट्रेलिया ने भारत को भारत में लगातार चौथी बार हराया। 

वनडे में 10 विकेट से हारा भारत 

113 (लक्ष्य) एनजेड एमसीजी 1981
200 WI ब्रिजेट 1997
165 एसए शारजाह 2000
189 एसए कोलकाता 2005
256 आस मुंबई वानखेड़े 2020 

इसी के साथ ही आरोन फिंच और डेविड वार्नर ने 243 रन बनाते ही भारत के खिलाफ वनडे में सबसे बड़ी ओपनिंग पार्नरशिप भी की। इससे पहले कर्स्टन और गिब्स ने कोच्चि में 235 रन से साथ साल 2000 में सबसे बड़ी पार्टनशिप की थी। 

PunjabKesari

वनडे में भारत के लिए खिलाफ सबसे बड़ी ओपनिंग पार्नरशिप 

243 आरोन फिंच - डेविड वार्नर मुंबई डब्ल्यूएस 2020
235 जी कर्स्टन - एच गिब्स कोच्चि 2000
231 आरोन  फिंच - डेविड वार्नर बेंगलुरु 2017
224 मोहम्मद हफीज - नासिर जमशेद मीरपुर 2012 

वानखेड़े स्टेडियम में ये भारतीय टीम की तीसरी हार है। इससे पहले साल 2017 में न्यूजीलैंड के हाथों भारत को 6 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था। वहीं 2015 में दक्षिण अफ्रीका ने भारत को इसी मैदान पर 214 रन से करारी हार दी थी। 

PunjabKesari

भारत की वानखेड़े स्टेडियम में तीसरी हार 

214 रन, 2015 से द. अफ्रीका 
6 विकेट्स, 2017 द्वारा न्यूजीलैंड 
10 विकेट्स, 2020 तक ऑस्ट्रेलिया 

.
.
.
.
.