Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : भारत के खिलाफ मनुका ओवल में खेले गए तीन मैचों की टी20 सीरीज के पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया को 11 रन से हार का सामना करना पड़ा है। मैच के दौरान अंपायर की मंजूरी मिलने पर युजवेंद्र चहल को मैदान में उतारा गया। इसके बाद उन्होंने शानदार प्रदर्शन दिखाते हुए ऑस्ट्रेलिया के तीन मुख्य बल्लेबाजों को आउट किया। अंपायर की इसी गलती के कारण ऑस्ट्रेलिया को पहले टी20 मैच में हार का सामना करना पड़ा है। 

PunjabKesari

जडेजा के चोटिल होने के कारण भारतीय कप्तान विराट कोहली ने चहल को मैदान में उतारा और उससे गेंदबाजी करवाई। वनडे में सबसे महंगे साबित होने वाले चहल ने आते ही फिंच को आउट कर दिया। चहल 8वें ओवर फेंकने उतरे और उन्होंने चौथी गेंद पर फिंच को हार्दिक पांड्या के हाथों कैच आउट करवाया। आउट होने के बाद फिंच गुस्से में नजर आए और पवेलियन लौटते समय उन्होंने बल्ले को भी फैंका। 

PunjabKesari

वहीं चहल का प्रदर्शन इसके बाद भी जारी रहा। उन्होंने 9वें ओवर के दौरान स्मिथ को अपना शिकार बनाया। चहल ने 10वें ओवर की पांचवीं गेंद पर स्मिथ को संजू सैमसन के हाथों कैच आउट करवाकर पवेलियन का रास्ता दिखाया। चहल ने अपना अंतिम विकेट 17वें ओवर की आखिरी गेंद पर झटका। इस दौरान उन्होंने विकेटकीपर बल्लेबाज मैथ्यू वेड को विराट कोहली के हाथों कैच आउट करवाया। 

आईसीसी का नियम और अंपायर का फैसला 

आईसीसी के कंकशन सब्स्टिटूशन नियम के मुताबिक टीम संक्षिप्त खिलाड़ी को प्लेइंग इलेवन में मौका दे सकती है। ऑलराउंडर की जगह ऑलराउंडर और गेंदबाज की जगह गेंदबाज को ही मौका दिया जा सकता है। लेकिन अंपायर की सहमति मिलने के बाद चहल मैदान में उतरे और फिंच औऱ स्मिथ पर भारी पड़ गए। इससे पहले यदि कोई खिलाड़ी चोटिल हो जाता था तो उसकी जगह मैदान में आया खिलाड़ी सिर्फ फील्डिंग ही कर पाता था। 

.
.
.
.
.