Sports

राजकोट : भारतीय टीम में अपने धैर्य और अनुशासन के लिए माने जाने वाले बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने विश्वभर में फैले घातक कोरोना वायरस के कारण समूचे देश में लॉकडाउन को लेकर कहा है कि वर्तमान स्थिति में घर में रहना सबसे ज्यादा जरुरी है और किसी भी खेल से अधिक महत्वपूर्ण मानव जीवन है। 

पुजारा ने कहा, ‘लॉकडाउन के दौरान सबसे ज्यादा जरुरी घर पर रहना है। सभी को इस खतरे को समझना चाहिए और अपने घरों के भीतर ही रहना चाहिए। मुझे पता है कि काफी समय तक घर में रहना थोड़ा अजीब लगता है लेकिन यह एक लड़ाई की तरह है जिससे हम लड़ रहे है। क्रिकेटर के तौर पर जो मेरे अंदर जो क्षमता है वो मुझे इसी परिस्थिति से निपटने में काम कर रही है। मैं मानसिक तौर पर मजबूत हूं जो मुझे इस परिस्थिति में लड़ने में सहायता करता है।' 

उन्होंने कहा, ‘कभी-कभी आपको अपने खेल से दूर रहना पड़ता है। सौभाग्य से यह ब्रेक सीजन के अंत में आया है। मैं रणजी ट्रॉफी खत्म होने के बाद एक-दो सप्ताह के लिए ब्रेक लेने के बारे में सोच रहा था लेकिन अब तो समय उससे भी अधिक हो गया है। हमें यह भी नहीं पता अब खेल कब शुरू होंगे। हम एक कठिन परिस्थिति में है।' पुजारा ने कहा, ‘जिस तरह से लोग इस महामारी से मुसीबतों का सामना कर रहे है, ऐसे में खेल के बारे में अधिक नहीं सोचना चाहिए। यह वायरस बेहद खतरनाक है इसलिए हमें साथ मिलकर इससे लड़ना होगा। यह युद्ध जैसी स्थिति है। हमें सबसे पहले यह सुनिश्चित करना होगा कि स्थिति सामान्य हो जाये और उसके बाद खेल के बारे में सोचा जा सकता है।' 

पुजारा ने कहा, ‘यह ऐसी स्थिति है जिसे हम नियंत्रित नहीं कर सकते है। हमारी जिंदगी में ऐसा पहली बार हुआ है और उम्मीद करता हूं कि ऐसा फिर कभी न हो। हमें खेल के बारे में अभी नहीं सोच रहे हैं। मुझे पूरा भरोसा है कि कुछ महीनों में स्थिति सामान्य हो जायेगी और उसके बाद हम खेल के बारे में सोच सकते हैं।' उन्होंने इंग्लैंड के काउंटी क्रिकेट के नहीं खेले जाने को लेकर कहा कि किसी को खेल के बारे में अधिक नहीं सोचना चाहिए क्योंकि मानव जिंदगी ज्यादा जरुरी है। पुजारा वर्तमान में किसी भी आईपीएल टीम में नहीं खेल रहे है और वह इंग्लैंड में शुरू होने वाले काउंटी क्रिकेट में खेलने वाले थे लेकिन इंग्लैंड में कोरोना वायरस से स्थिति बेहद गंभीर बनी हुयी है और पूरा सीजन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। 

.
.
.
.
.