Sports

नई दिल्ली : विश्व जूनियर चैम्पियन हिमा दास का विश्व चैम्पियनशिप में भाग लेने पर अटकलों शुरू हो गई है क्योंकि भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (एएफइआई) ने आईएएएफ को खिलाड़ियों की जो प्रारंभिक सूची भेजी है उसमें इस खिलाड़ी का नाम नहीं है। एएफआई के पास हालांकि इस सूची में उनका नाम शामिल करवाने के लिए 16 सितंबर तक का समय है। एएफआई ने चार गुणा 400 रिले और चार गुणा 400 मिश्रित रिले के लिए नौ सितंबर को हिमा सहित सात महिला धावकों के नामों की घोषणा की थी। इन खेलों का आयोजन दोहा में 27 सितंबर से छह अक्टूबर तक होना है।

यह पता चला है कि एएफआई ने आईएएएफ को महिला एथलीटों की जो सूची भेजी है उसमें हिमा का नाम नहीं है। इस सूची में चार गुणा 400 मीटर महिला रिले दौड़ के लिए विस्मया वीके, पूवम्मा एमआर, जिस्ना मैथ्यू, रेवती वी, शुभा वेंकटेशन, विद्या आर का नाम है जबकि हिमा को जगह नहीं मिली है। 19 साल की असम की इस खिलाड़ी का नाम मिश्रित रिले टीम में भी नहीं है। मोहम्मद अनस, निर्मल नोह टोम, और अमोज जैकब के साथ इसमें जिस्ना, पूवम्मा और विस्मया को जगह दी गयी है। एएफआई के पास इन दोनों रिले टीमें में हिमा का नाम जोड़ने के लिए 16 सितंबर की मध्यरात्रि तक का समय है लेकिन इसके लिए सूची से किसी धावक को हटना होगा।

आईएएएफ रिले दौड़ के लिए केवल छह नामों को भेजने की अनुमति देता है लेकिन एएफआई ने सात महिलाओं के नाम दिए थे। शुरुआती सूची में हिमा का नाम नहीं होने से प्रतियोगिता में उनकी भागीदारी पर सवालिया निशान लग गया है क्योंकि वह पिछले साल एशियाई चैम्पियनशिप के बाद पीठ के निचले हिस्से में दर्द से पीड़ित हैं। वह अप्रैल के मध्य में दोहा में एशियाई चैंपियनशिप के दौरान व्यक्तिगत 400 मीटर की दौड़ से बाहर हो गई। उस समय टीम के सहायक कोच राधाकृष्ण नायर ने कहा था कि हिमा के पीठ का निचला हिस्सा चोटिल है। विश्व चैंपियनशिप की तैयारी के लिए यूरोप में चल रहे मौजूदा प्रशिक्षण कार्यकम के दौरान भी उन्होंने सिर्फ एक बार 400 मीटर की दौड़ लगाई है क्योंकि लंबी दूरी की दौड़ में उन्हें दर्द महसूस हो रहा है।

हिमा ने यूरोप में 2 से 20 जुलाई के बीच 200 मीटर दौड़ में 4 और 400 मीटर के दौड़ में एक स्वर्ण पदक जीता। हालांकि इन प्रतियोगिताओं का स्तर सामान्य से कम था। उन्होंने अगस्त में 300 मीटर में स्वर्ण पदक हासिल किया। हिमा अपनी पसंदीदा 400 मीटर स्पर्धा के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाई। इसमें मौजूदा सत्र का उनका सर्वश्रेष्ठ समय 52.09 सेकेंड का है जो उनके व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ 50.79 सेकेंड से भी कम है।

एएफआई के अध्यक्ष आदिल सुमिरवाला ने कहा कि उन्हें विश्व चैंपियनशिप में हिमा की भागीदारी के किसी भी फैसले के बारे में जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा, ‘मुझे हिमा की मौजूदा स्थिति की कोई जानकारी नहीं है क्योंकि वह यूरोप में है। यूरोप में टीम के साथ एक चिकित्सक है और अगर वह पूरी तरह से फिट नहीं है तो वह भाग (विश्व चैंपियनशिप में) नहीं लेगी।' उन्होंने कहा, ‘अगर वह इसमें भाग लेती है और बीच में ही दौड़ना छोड़ देती है तो टीम (रिले) को नुकसान होगा। उसे दौड़ में भाग लेने के लिए पूरी तरह से फिट होना होगा। वह सिर्फ 20 (19) साल की है और ऐसे में उसके लिए खुद को ओलंपिक के लिए बचाये रखना अच्छा होगा। वह युवा और प्रतिभाशाली है। वह 2024 ओलंपिक तक आपने शीर्ष पर होगी, ऐसे में हमें उस पर बेवजह दबाव नहीं डालना चाहिए।' 

.
.
.
.
.