Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : शिखर धवन की कप्तानी में भारतीय टीम को न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन वनडे मैचों की सीरीज के पहले मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 7 विकेट खोकर न्यूीजलैंड को 307 रनों का लक्ष्य दिया। हालांकि, बचाव में उतरे भारतीय गेंदबाजों ने शुरूआती 10 ओवरों में शानदार खेल दिखाकर जीत की उम्मीद रखी, लेकिन फिर पारी के आखिरी 10 ओवरों में पूरा मैच कीवी पक्ष में चला गया। आइए जानते हैं आखिर किन कारणों के चलते बड़ा स्कोर करने के बावजूद भारत हार गया-

जिससे थी उम्मीदें वो हुए फ्लाॅप
तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह ने हाल ही में समाप्त हुए आईसीसी टी20 विश्व कप में शानदार गेंदबाजी की थी, लेकिन वह इस मैच में उम्मीद में खरे नहीं उतरे। यहां तक स्पिनर युजवेंद्र चहल भी अपनी फिरकी में कीवी बल्लेबाजों को फंसाने में नाकाम रहे। अर्शदीर ने 8.1 ओवर में 8.30 की महंगी इकोनोमी रेट से बिना विकेट लिए 68 रन लुटा दिए तो वहीं चहल ने पूरे 10 ओवर फेंके, लेकिन 67 रन खर्च कर दिए, साथ ही कोई विकेट भी नहीं निकाल सके। इसके अलावा स्पिनर वाशिंगटन सुंदर ने जरूर लगाम कसी, लेकिन वह 42 रन देकर विकेट नहीं चटका पाए। 

PunjabKesari

विलियमसन-लाथम की साझेदारी पड़ी भारी
केन विलियमसन व टाॅम लाथम की साझेदारी ना तोड़ पाना भारत की हार का सबसे बड़ा कारण रहा। एक समय न्यूजीलैंड के 19.5 ओवर में 88 रनों पर 3 विकेट गिर चुके थे। यहां तक मैच भारत के पक्ष में था, लेकिन विलियमसन-लाथम की साझेदारी ने पासा पलट दिया। भारतीय गेंदबाज इस साझेदारी को नहीं तोड़ सके, जिसका खामियाजा उन्हें हार के साथ भुगतना पड़ा। विलियमसन-लाथम ने चाैथे विकेट के लिए नाबाद 221 रनों की साझेदारी कर टीम को 47.1 ओवर में ही जीत दिला दी। लाथम ने 104 गेंदों में 145 तो विलियमसन ने 98 गेंदों में नाबाद 94 रन बनाए।

PunjabKesari

शार्दुल का महंगा ओवर
हार के बाद कप्तान शिखर धवन ने भी माना की 40वें ओवर में लूटे खूब रनों ने कीवी बल्लेबाजों को खुलकर खेलने का माैका दे दिया। इस ओवर में शार्दुल ठाकुर ने 25 रन लुटा दिए। उन्हें लाथम ने पहली गेंद पर छक्का लगाया। दूसरी गेंद वाइड रही। फिर लाथम ने लगातार 4 चाैके लगा दिए। इसके बाद फिर वाइड और 1 रन न्यूजीलैंड के खाते में गया। तब न्यूजीलैंड का स्कोर 241 हो गया, जिसके बाद लाथम ने खुलकर खेलने का फैसला किया।

PunjabKesari

.
.
.
.
.