Sports

मुंबई : महान क्रिकेटर सुनील गावस्कर को लगता है कि गुजरात टाइटन्स के कप्तान हार्दिक पांड्या इस सत्र में अनुशासित बल्लेबाजी कर रहे हैं और मैदानी पाबंदियों का अच्छे से इस्तेमाल कर रहे हैं जिससे उनके खेल का स्तर ऊंचा हुआ है। बड़ौदा के स्टार आलराउंडर पांड्या ने शानदार तरीके से टीम की अगुआई की है और अपनी जिम्मेदारी भरी पारियों से कई मौकों पर टीम को हार से बचाया भी है। इस आलराउंडर ने गेंदबाजी में भी योगदान दिया है और वह टाइंटस के महत्वपूर्ण खिलाड़ियों में से एक हैं। 

पांड्या को 2019 में अपनी पीठ की सर्जरी के बाद गेंदबाजी करने में परेशानी आ रही थी। भारत के लिए वह अंतिम बार पिछले साल आठ नवंबर को दुबई में टी20 विश्व कप में नामीबिया के खिलाफ खेले थे। गावस्कर ने ‘स्टार स्पोर्ट्स' से कहा, ‘वह आईपीएल से पहले ज्यादा क्रिकेट नहीं खेला था क्योंकि वह चोट के कारण हुई सभी समस्याओं के बाद पूरी तरह से फिट होने की कोशिश कर रहा था।' उन्होंने कहा, ‘अब देखिए वह अपनी बल्लेबाजी में कितना अनुशासन दिखा रहा है। वह पावरप्ले में अच्छी बल्लेबाजी कर रहा है और मैदान की पांबदियों का पूरा फायदा उठा रहा है, वह मैदान में भी काफी बेहतर कर रहा है।' 

पूर्व भारतीय कप्तान गावस्कर ने कहा, ‘अब वह सोच-समझ कर खेल रहा है और एक बार ऐसा होता है तो आपके खेल का स्तर ऊंचा ही होता है।' पूर्व भारतीय बल्लेबाज आकाश चोपड़ा ने कहा कि पांड्या ने अपने मार्गदर्शक महेंद्र सिंह धोनी से सही सबक सीखा है। चोपड़ा ने कहा, ‘मुझे लगता है कि हार्दिक एमएस धोनी को अपना ‘मेंटोर' मानता है, वह उनके काफी करीब है। वह जिस नंबर पर बल्लेबाजी करते हैं और वह जो भूमिका निभाते हैं, कोई भी सीमित ओवरों की क्रिकेट के इतिहास में धोनी से बेहतर नहीं खेला है।' 

उन्होंने कहा, ‘उसने धोनी से सही सबक सीखा है। जब आप महान खिलाड़ी से जुड़े होते हो तो हम उनसे कुछ सीखने की कोशिश करते हैं और कुछ सीखते हैं जिससे हमारी जिंदगी सुधर जाती है। हार्दिक के साथ हम यही देख रहे हैं।' पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज इरफान पठान ने भी पांड्या की जिम्मेदारी भरी पारियों के लिए तारीफ की। पठान ने कहा, ‘यह नया हार्दिक पांड्या है। यह उसका बेहतर स्वरूप है। इस सत्र में वह जिस परिस्थितियों में खेला है, उन्हें देखना अच्छा है। हार्दिक के बारे में अच्छी चीज यह है कि वह चौथे नंबर पर जिम्मेदारी से बल्लेबाजी कर रहा है।' 

.
.
.
.
.