Sports

खेल डैस्क : लखनऊ सुपर जायंट्स के गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन कर गुजरात टाइटंस को महज 144 पर तो रोक लिया लेकिन उनकी बल्लेबाजी बेहद निराशाजनक रही। पूरी टीम 82 रनों पर ऑल आऊट हो गई। कप्तान केएल राहुल ने 16 गेंदों में मात्र 8 रन बनाए। मैच गंवाने के बाद केएल राहुल ने हार के कारणों पर चर्चा की। उन्होंने कहा- यह एक मुश्किल विकेट की तरह लग रहा था। हमने यहां पिछले 2 या 3 मैच खेले हैं तब यहां ऐसा नहीं था। फिर भी हम जानते थे कि यह एक कम स्कोर वाला खेल होगा। हम जानते थे कि यह एक मुश्किल और चुनौतीपूर्ण पिच होगी। हमारी गेंदबाजी अच्छी रही न कि बल्लेबाजी। 

 

यह भी पढ़ें:- IPL 2022 : ‘कोहली को अपनी काबिलियत पर है शक’, पाकिस्तानी दिग्गज के तीखे बोल

 

केएल राहुल ने कहा कि किसी भी पिच पर टीम को 150 से कम उम्र में प्रतिबंधित करना काबिले तारीफ है। गुजरात के गेंदबाजों ने अपना काम किया। हमें काफी बेहतर बल्लेबाजी करनी चाहिए थी। खराब शॉट चयन, रन आउट हमारे लिए समस्या रही। यह हमारे लिए सीख भी थी। उम्मीद है कि हम इस तरह की हार सेे सीखेंगे। कभी-कभी आपको हर गेम को चालू रखने और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करते रहने के लिए थोड़े से रिमाइंडर की आवश्यकता होती है। कई बार कम योग का पीछा करते हुए आपको पावरप्ले का फायदा उठाना होता है। मेरे और क्विंटन द्वारा टीम को अच्छी शुरुआत देना बनता था। लेकिन ऐसा हो नहीं पाया। 

 

यह भी पढ़ें:- IPL 2022 : छक्के लगाने में फिसड्डी है गुजरात टाइटंस, यह टीम है पहले नंबर पर

 

राहुल बोले- यह जरूरी नहीं था कि हम पावरप्ले में 60 के स्कोर तक पहुंचे। हम 35 या 45 रन बना सकते थे लेकिन हमने बहुत सारे विकेट खो दिए। हमें पता था कि पिच थोड़ी पकड़ में आने वाली है और पावरप्ले के बाद रन बनाना थोड़ा मुश्किल हो सकता है। हमने कुछ चांस लिए लेकिन यह हमारे काम नहीं आई। हम जानते थे कि उनके स्पिनरों के लिए रन बनाना वाकई मुश्किल होगा। हमें मुश्किल पिचों पर अच्छे विरोधियों के खिलाफ गोल करने के तरीके तलाशने होंगे। 

 

यह भी पढ़ें:-  उमरान या नटराजन कौन है IPL में बैस्ट? शोएब अख्तर ने दिया जवाब

.
.
.
.
.