Sports

नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने दिल्ली जिला एवं राज्य क्रिकेट संघ (डीडीसीए) के निर्देशक पद से इस्तीफा दे दिया है। गंभीर का कहना है कि निर्देशक के तौर पर वह जो डीडीसीए में करना चाहते थे वह हो नहीं पा रहा था। वह खिलाडिय़ों के लिए कई बदलाव लाना चाहते थे लेकिन डीडीसीए में कुछ ऐसे फैसले हुए हैं जो उन्हें पसंद नहीं है। बता दें कि डीडीसीए में सरकार की ओर से दिल्ली के तीन व्यक्तियों को निर्देशक बनाया जाता है। इनमें एक पद गंभीर के पास था। 

गौतम गंभीर डीडीसीए निर्देशक पद से इस्तीफा देने का कारण 

gautam gambhir photo, gautam gambhir image, gautam gambhir pic

गंभीर का कहना है कि जब तक वह निर्देशक रहे उन्होंने कई प्रस्ताव रखे लेकिन हर बार उन्हें दरकिनार कर दिया गया। वैसे भी सांसद बनने के कारण उनकी जिम्मदारियां बढ़ गई हैं। ऐसे में उनके पास डीडीसीए के लिए आगे काम करने के लिए वक्त की कमी रहेगी। ऐसे में उन्होंने इस पद को छोडऩा ही अच्छा समझा।

डीडीसीए में खिलाड़ियों को नहीं मिलती थी सुविधाएं

gautam gambhir photo, gautam gambhir image, gautam gambhir pic

गंभीर ने कहा- वह चाहते थे कि दिल्ली के खिलाड़ियों को अच्छी मेडिकल सुविधा के अलावा अच्छा खाना भी मिले। गंभीर ने कहा- जब वह और वीरेन्द्र सहवाग (Virender Sehwag) खेलते थे तो कई बार उनके खाने से पत्थर और पिन निकलते थे। वह इसको सुधारना चाहते थे। वह खिलाडिय़ों को मिलने वाले  दैनिक भत्ते को भी बढ़ाना चाहते थे जो हो नहीं पाया। बहरहाल, गंभीर ने अपना इस्तीफा खेल मंत्री किरण रिजिजू को भेज दिया है। उनके इस्तीफे पर डीडीसीए ने चुप्पी साध रखी है।

.
.
.
.
.