Sports

लंदन: इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वान का मानना है कि अगर कोविड-19 महामारी लेकर बनी स्थिति नियंत्रित हो जाती है तो अक्टूबर और नवंबर में होने वाले टी20 विश्व कप से पहले पांच हफ्ते की इंडियन प्रीमियर लीग का आयोजन व्यावहारिक होगा। भारत में अब तक कोरोना वायरस के दो हजार से अधिक मामले सामने आ चुके हैं और 50 लोगों की मौत हुई है। भारत में 21 दिन का लाकडाउन घोषित किया गया है। दुनिया भर में इस संक्रमण के कारण लगभग 50 हजार मौत हो चुकी हैं।

Here’s a thought .. The IPL is played for the 5 weeks leading up to the T20 World Cup in Oz .. all players use it as the great warm up for the WC .. then the WC happens .. So important for the game that the IPL takes place but also the WC .. 👍👍 https://t.co/ftKA4c5JWv

— Michael Vaughan (@MichaelVaughan) April 2, 2020

आईपीएल को 15 अप्रैल तक निलंबित किया गया है और मई में कम अवधि के टूर्नामेंट के आयोजन की संभावित काफी कम है क्योंकि स्थिति को सामान्य होने में महीनों लग सकते हैं। वान ने ट्वीट किया, ‘एक विचार है... आस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप से पहले पांच हफ्ते का आईपीएल... सभी खिलाड़ी इसका इस्तेमाल विश्व कप के लिए अभ्यास के रूप में कर सकते हैं... इसके बाद विश्व कप होगा। खेल के लिए महत्वपूर्ण है कि आईपीएल हो और विश्व कप भी।' वान के सुझाव पर गौर किया जाए तो इसका मतलब हुआ कि वह 18 अक्टूबर से आस्ट्रेलिया में शुरू होने वाले टी20 विश्व कप से पहले सितंबर में आईपीएल के आयोजन की उम्मीद कर रहे हैं। सितंबर में भारत के यूएई में एशिया कप में हिस्सा लेने का कार्यक्रम है जिसकी मेजबानी पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को करनी है। 

PunjabKesari
बीसीसीआई के एक अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया, ‘सितंबर में भारत में मानसून का समय होता है। मुंबई में काफी बारिश होती है, चेन्नई में भी बारिश हो सकती है। इस फैसले को हल्के में नहीं लिया जा सकता।'' इस तरह का सुझाव भी है कि अक्टूबर-नवंबर में आईसीसी टी20 विश्व कप को रद्द कर दिया जाए और इस विंडो आईपीएल के आयोजन के लिए बीसीसीआई को दे दी जाए लेकिन आईसीसी और बीसीसीआई के सूत्रों का मानना है कि इस समय इस पर टिप्पणी करना जल्दबाजी होगी। बीसीसीआई सूत्र ने कहा, ‘आपको कल की स्थिति के बारे में नहीं पता। संकेत मिलने दीजिए कि चीजों में सुधार हो रहा है और हालात सामान्य हो रहे हैं। इसके बाद आप विकल्पों पर विचार कर सकते हैं।' 

 

.
.
.
.
.