Sports

दुबई : भारत ब्रिस्बेन में चौथा टेस्ट ऑस्ट्रेलिया से जीतकर और सीरीज 2-1 से अपने नाम कर आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप की तालिका में शीर्ष स्थान पर पहुंच चुका है लेकिन फाइनल में अपना स्थान सुनिश्चित करने के लिए भारत को इंग्लैंड के खिलाफ पांच फरवरी से शुरू होने वाली चार टेस्टों की सीरीज दो मैचों के अंतर से जीतनी होगी। 

इंग्लैंड के श्रीलंका से दो टेस्टों की सीरीज सोमवार को 2-0 से जीतने के बाद अंतररष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने फ़ाइनल की दावेदार टीमों को लेकर समीकरण जारी किया है जिसमें उसने बताया है कि टीमों की आगामी सीरीज के दौरान उनके समीकरण क्या रहेंगे जिससे वे फ़ाइनल में पहुंच सके। 

टेस्ट चैंपियनशिप तालिका में शीर्ष चार टीमों भारत, न्यूज़ीलैंड, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच मात्र तीन प्रतिशत अंकों का फासला है और फ़ाइनल के लिए रेस लगातार तेज होती जा रही है। इंग्लैंड ने श्रीलंका को 2-0 से क्लीन स्वीप कर फासला कम किया है। नौ टीमों की तालिका में भारत 71.7 प्रतिशत के साथ सबसे आगे है जबकि न्यूज़ीलैंड 70 प्रतिशत के साथ दूसरे, ऑस्ट्रेलिया 69.2 प्रतिशत के साथ तीसरे और इंग्लैंड 68.7प्रतिशत के साथ चौथे स्थान पर है। 

फाइनल में पहुंचने के लिए समीकरण : 

भारत : टीम इंडिया के पास इंग्लैंड के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की घरेलू सीरीज बाकी है। भारत को फाइनल में अपनी जगह पक्की करने के लिए इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज को कम से कम दो मैचों के अंतर से जीतना होगा। यदि भारत एक टेस्ट हारता है तो उसे तीन टेस्ट (4-0, 3-0, 3-1 या 2-0) से जीतने होंगे जबकि सीरीज में 0-3 या 0-4 से हारने की स्थिति में भारत की फ़ाइनल में पहुंचने की संभावनाएं समाप्त हो जाएंगी। 

इंग्लैंड ने गाले में जिस तरह अपने स्पिनरों के दम पर श्रीलंका को हराया उसे देखते हुए भारत को सतकर् हो जाना चाहिए कि इंग्लैंड ने भारत दौरे के लिए अपनी स्पिन ताकत को मजबूत किया है क्योंकि वे जानते हैं कि भारत अपने स्पिनरों के दम पर अपनी पिचों पर काफी खतरनाक रहता है। 

.
.
.
.
.