Sports

भुवनेश्वर : भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने कलिंगा स्टेडियम में दो मुकाबलों के एफआईएच प्रो लीग टाई के शुरुआती मैच के 3-3 की बराबरी पर छूटने के बाद शूट-आउट में इंग्लैंड को 3-2 हराया। इस जीत से भारतीय टीम ने दो अंक (एक बोनस सहित) हासिल किए जबकि इंग्लैंड की टीम ने एक अंक हासिल किया। मैच के नियमित समय में अभिषेक (14वें मिनट), शमशेर सिंह (27वें मिनट) और हरमनप्रीत सिंह (52वें मिनट) ने  भारत के लिए गोल दागे, जबकि इंग्लैंड के लिए निकोलस बंदुरक (आठवें, 28वें मिनट) और सैम वार्ड (60वें मिनट) ने गोल किए।

वार्ड ने पेनल्टी स्ट्रोक पर गोल दागा। दोनों टीमें एक बार फिर रविवार को होने वाले दूसरे मुकाबले में आमने-सामने होंगी। इंग्लैंड ने मैच में सकारात्मक शुरुआत करते हुए आठवें मिनट में पेनल्टी कार्नर हासिल किया जिसे बंदुरक ने गोल में बदल कर टीम को बढ़त दिला दी। भारतीय टीम अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं करने के बाद भी 14वें मिनट में अभिषेक के गोल से बराबरी करने में सफल रही। उन्होंने शमशेर के पास पर शानदार रिवर्स हिट से टीम को पहली सफलता दिलाई। भारत ने 27वें मिनट में शमशेर के मैदानी गोल से बढ़त बना ली। लेकिन टीम की यह खुशी ज्यादा देर तक नहीं रही क्योंकि अगले ही मिनट में बंदुरक ने पेनल्टी कार्नर को गोल में बदल कर स्कोर 2-2 कर दिया।

भारतीय टीम के खराब प्रदर्शन का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पहले हाफ में वे एक भी पेनाल्टी कार्नर नहीं हासिल कर सके और इस दौरान इंग्लैंड ने तीन पेनल्टी कार्नर हासिल किए। भारतीय टीम तीसरे क्वार्टर में भी पेनल्टी कॉर्नर हासिल करने में नाकाम रही। भारतीय गोलकीपर पीआर श्रीजेश ने इस दौरान कुछ शानदार बचाव कर इंग्लैंड को बढ़त लेने से रोक दिया।

भारत के खेल में चौथे क्वार्टर में पैनापन देखने को मिला और टीम ने आखिरी 8 मिनट के अंदर दो पेनल्टी कार्नर हासिल किए। इसमें से दूसरे पर हरमनप्रीत के शानदार ड्रैग फ्लिक से टीम की बढ़त 3-2 हो गई। भारतीय रक्षापंक्ति के लचर खेल से इंग्लैंड मैच खत्म होने से 14 सेकेंड पहले पेनल्टी स्ट्रोक हासिल किया और इसे गोल में बदल कर स्कोर 3-3 से बराबर कर दिया। इसके बाद शूटआउट में हालांकि भारतीय टीम इंग्लैंड पर भरी पड़ी। इस जीत से भारत नौ मैचों में 18 अंक के साथ तालिका में शीर्ष पर पहुंच गया।

.
.
.
.
.