Sports

मॉस्को ,रूस ( निकलेश जैन ) कोरोना वायरस के कारण जर्मनी में फसे आनंद वहाँ बैठकर भी देश के लिए ऑनलाइन शतरंज मुक़ाबले जीतकर देश को गौरान्वित कर रहे है । फीडे ऑनलाइन नेशन्स कप में भारत के निराशाजनक प्रदर्शन जारी है और टीम तीसरे दिन भी कोई जीत हासिल नहीं कर सकी टीम नें रूस के साथ 2-2 से ड्रॉ खेला तो अमेरिका के खिलाफ उसे 1.5-2.5 से हार झेलनी पड़ी । 

PunjabKesari
तीसरे दिन हुए पांचवे राउंड में मात्र शुरुआती 10 मिनट के खेल में भी पहले बोर्ड पर खेल रहे भारत के 5 बार के विश्व चैम्पियन विश्वनाथन आनंद नें रूस के दिग्गज खिलाड़ी विश्व नंबर 5 इयान नेपोमनियची को मात्र 17 चालों में हराते हुए तहलका मचा दिया ,अब तक यह इस टूर्नामेंट की सबसे तेज जीत थी । तीसरे बोर्ड पर अधिबन भास्करन नें दिग्गज सेरगी कार्याकिन को ड्रॉ पर रोकते हुए स्कोर 1.5-0.5 कर दिया । चौंथे बोर्ड पर टूर्नामेंट में अपना पहला मुक़ाबला खेल रही हरिका द्रोणावल्ली नें गिरिया ओलगा से ड्रॉ खेलते हुए स्कोर 2-2 कर दिया ऐसे में नजरे थी जीत के आधा अंक के लिए पेंटाला हरीकृष्णा पर जो आर्टेमिव ब्लादिस्लाव से बेहतर स्थिति में थे पर अंत में भारत जोरदार झटका लगा जब एक बार फिर समय के दबाव में हरिकृष्णा गलतियाँ करते गए और मुक़ाबला हार गए । 

देखे नेपोमनियाची पर विश्वनाथन आनंद की शानदार जीत का विडियो विश्लेषण - हिन्दी चेसबेस इंडिया के सौजन्य से 

PunjabKesari
छठे राउंड में भारत के सामने अमेरिका था और इस बार पहले परिणाम आए दूसरे बोर्ड पर जहां विदित नें विश्व नंबर 2 फबियानों करूआना को ड्रॉ पर रोक कर आधा अंक दिलाया तो कोनेरु हम्पी नें चौंथे बोर्ड पर इरिना कृश से मुक़ाबला ड्रॉ खेलकर स्कोर 1-1 कर दिया । तीसरे बोर्ड पर अधिबन भास्करन को वेसली सो के हाथो पराजय का सामना करना पड़ा ऐसे में सबकी नजरे पहले बोर्ड पर विश्वनाथन आनंद और हिकारु नाकामुरा के मुक़ाबले पर थी जहां आनंद जीत के लिए बहुत ज़ोर लगा रहे थे पर आखिरकार मुक़ाबला ड्रॉ रहा और भारत 1.5-2.5 से अमेरिका के खिलाफ हार गया । 

PunjabKesari
राउंड 6 की समाप्ती पर चीन 11 अंक लेकर पहले ,यूरोप 9 अंक लेकर दूसरे तो अमेरिका 7 अंक लेकर तीसरे स्थान पर चल रहा है ,जबकि रूस 5 अंक के साथ चौंथे स्थान पर है ,भारत फिलहाल 2 अंक के साथ पांचवे तो रेस्ट ऑफ द वर्ल्ड 2 अंको के साथ ही अंतिम स्थान पर है । 

राउंड 5 और 6 का पूरा विडियो विश्लेषण - हिन्दी चेसबेस इंडिया के सौजन्य से 

 

 

.
.
.
.
.