Sports

PunjabKesari
नई दिल्ली ( निकलेश जैन ) वैसे तो मार्च माह में शतरंज के अधिकतर टूर्नामेंट रद्द हुए पर महिला ग्रां प्री और आधे ही हुए फीडे कैंडीडेट के कारण शीर्ष खिलाड़ियों की विश्व रैंकिंग में असर पड़ा है । पुरुष वर्ग में विश्व चैम्पियन नॉर्वे के मेगनस कार्लसन 2863 अंको के साथ पहले ,अमेरिका के फबियानों करूआना 7 रेटिंग अंक खोकर भी 2835 अंको के साथ दूसरे ,चीन के डिंग लीरेन 12 अंक खोकर 2791 अंको के साथ तीसरे स्थान पर है जबकि कैंडीडेट में अच्छा प्रदर्शन करने वाले रूस के इयान नेपोमनियाची 2784 अंको के साथ चौंथे तो फ्रांस के मेक्सिम लाग्रेव 2778 अंको के साथ पांचवे स्थान पर पहुँच गए है । 2777 अंको के साथ रूस के अलेक्ज़ेंडर ग्रीसचुक छठे ,2773 अंको के साथ अर्मेनिया के लेवान अरोनियन सातवे ,2770 अंको के साथ अमेरिका के वेसली सो आठवे ,2765 अंको के साथ अजरबैजान के तिमुर रद्जाबोव नौवे तो नीदरलैंड के अनीश गिरि 2764 अंको के साथ दसवें स्थान पर पहुँच गए है ।

PunjabKesari

भारतीय खिलाड़ियों को विश्वनाथन आनंद 2753 अंको के साथ 15वे ,विदित गुजराती एक स्थान के नुकसान के साथ 2726 अंको के साथ 23 वे ,2719 अंको के साथ पेंटाला हरिकृष्णा 27 वे स्थान पर पहुँच गए है । शीर्ष 100 में अन्य भारतीय खिलाड़ियों में अधिबन भास्करन 2659 अंको के साथ 82 वें स्थान पर है । 

PunjabKesari
महिला खिलाड़ियों में सक्रिय खिलाड़ियों में भारत की कोनेरु हम्पी का दबदबा कायम है शीर्ष खिलाड़ी चीन की हाऊ ईफ़ान 2658 अंको के साथ पहले स्थान पर है । भारत की कोनेरु हम्पी 2586 अंको के साथ दूसरे पर कायम है ,तो रूस की आलेक्सान्द्रा गोरयाचकिना 2582 अंको के साथ एक स्थान का सुधार कर तीसरे स्थान पर है जबकि अपने खराब प्रदर्शन के चलते मौजूदा विश्व चैम्पियन चीन की जू वेंजून 2560 अंको के साथ एक स्थान खोकर चौंथे स्थान पर पहुँच गयी है । अन्य खिलाड़ियों में 2546 अंक के साथ रूस की लागनों काटेरयना पांचवे ,उक्रेन की मारिया मुजयचूक 2544 अंक के साथ छठे तो अन्ना मुजयचूक 2535 अंको के साथ सातवे स्थान पर है ,ग्रां प्री विजेता जॉर्जिया की नाना दगनिडजे नें तीन स्थान बढ़त हासिल करते हुए 2524 अंको के साथ आठवा स्थान हासिल कर लिया है जबकि भारत की हारिका द्रोणावल्ली एक स्थान के सुधार के साथ 2515 रेटिंग के साथ नौवे तो चीन की पूर्व विश्व चैम्पियन तान ज़्होंगयी 2510 अंको के साथ दसवें स्थान पर पहुँच गयी है । 

.
.
.
.
.