Sports

स्पोर्ट्स डेस्क(राहुल): कड़ी मेहनत का फल अवश्य मिलता है, इसका एक उदाहरण राजस्थान के चूरू जिले से निकली नवोदित क्रिकेटर प्रिया पूनिया से मिला। पूनिया को न्यूजीलैंड दाैरे के लिए टी20 टीम में शामिल किया गया। लेकिन प्रिया को यहां तक पहुंचाने के लिए उनके पिता ने भी कोई कसर नहीं छोड़ी। प्रिया के पिता सुरेन्द्र पूनिया को जब लगा कि उनकी बेटी क्रिकेटर बनना चाहती है तो उन्होंने उसका सपना पूरा करने के लिए मकान तक बेच दिया। 

क्यों बेचा मकान

प्रिया के पिता सुरेंद्र ने अपना मकान बेचकर साल 2010 में जयपुर शहर के बाहर हरमाड़ा में 22 लाख रुपए की कीमत में 1.5 बीघा जमीन खरीदी। उन्होंने इन पैसों से इस जमीन पर बेटी के लिए प्रोपर क्रिकेट की पिच बनवा दी और साथ में नेट्स भी लगवाए। प्रिया ओपनिंग बल्लेबाज हैं। वह बताते हैं, 'मैं वहां हमेशा से ही स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स बनाना चाहता था। लेकिन मेरी बेटी बैडमिंटन के प्रति कोई उत्साह ही नहीं दिखाया। वह क्रिकेट खेलना पसंद करती थी। वह लड़कों के साथ क्रिकेट खेलती थी, तो फिर मैंने तय किया कि मैं यहां क्रिकेट की प्रोपर पिच और नेट्स ही लगवा दूं।' 
priya punia image

चूरू के तारानगर के जनाऊ खारी गांव के सुरेन्द्र पूनिया के घर 6 अगस्त, 1996 में जन्मी प्रिया को यूं तो उसके पिता ने 12 वर्ष की उम्र 2008 में बैडमिंटन का रैकिट थमाया था, लेकिन उसमें उसका मन नहीं रमा। इस पर पिता ने बेटी की इच्छा को तवज्‍जो देते हुए उसे जयपुर की सुराणा क्रिकेट एकेडमी में दाखिला दिला दिया। जयपुर में परिस्थितियां माकूल नहीं देखकर वह बेटी को लेकर दिल्ली चले गए और खुद ने भी वहीं ट्रांसफर ले लिया। वहां वेस्ट दिल्ली द्वारका में बेटी को क्रिकेट की प्रैक्टिस करवाई। लेकिन सेंटर पिच पर प्रैक्टिस की डिमांड को देखते हुए सुरेन्द्र पूनिया वापस जयपुर आ गए।

अब खुद को साबित करना चाहेंगी प्रिया

प्रिया को उम्मीद थी कि 2015 में ही उनका सिलेक्शन टीम इंडिया में हो जाएगा। यह घरेलू सीजन उनके लिए शानदार रहा था। इस सत्र में उन्होंने कई शानदार पारियां खेलीं, जिनमें नॉर्थ जोन के लिए खेलते हए वेस्ट जोन के खिलाफ 95 रन ठोके। इस सत्र में न्यू जीलैंड A के खिलाफ भारत A के लिए नंबर 3 पर खेलते हुए 42 बॉल पर 59 रन की उम्दा पारी भी खेली। यह होम टीम की ओर से किसी बल्लेबाज का सबसे ज्यादा स्कोर था।  अपने सिलेक्शन पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा, 'मुझे उम्मीद थी कि मुझे वनडे टीम के लिए चुना जाएगा, लेकिन मुझे जो भी मौका मिलेगा मैं उसमें खुद को साबित करना चाहूंगी। मैं इंटरनैशनल क्षेत्र में बेहतर करना चाहती हूं।' प्रिया ने इस घरेलू सत्र में 2 शतक ठोके हैं इसलिए उन्हें टीम इंडिया में जगह मिल पाई है। प्रिया के पिता कहते हैं, 'शायद उनके छक्के जड़ने के अंदाज के चलते चयनकर्ताओं ने उन्हें टी20 क्रिकेट में जगह दी है।' 
priya punia image

'रिजल्ट' देख सचिन हुए खुश

प्रिया के लिए जो उनके पिता ने साहस दिखाया, उसका 'रिजल्ट' देख पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर भी खुश हैं। सचिन ने ट्विटर पर लिखा- यह दिखाता है कि कड़ी मेहनत और एक मजबूत समर्थन  प्रणाली सफलता की राह कैसे प्रशस्त कर सकती है। सचमुच प्रेरणादायक।
sachin tendulkar image

.
.
.
.
.