Sports

पराइया ग्रांडे (ब्राजील): ब्राजील के दिग्गज खिलाड़ी नेमार ने स्वीकार किया है कि फुटबाॅल विश्व कप क्वार्टर फाइनल में बेल्जियम के खिलाफ टीम की शिकस्त के बाद उन्होंने गेंद की तरफ नहीं देखा और वह बाकी बचे मैच नहीं देखना चाहते थे।

नेमार ने साक्षात्कार में कहा, ‘‘मैं इतना आगे नहीं बढ़ा कि कहूं कि मैं दोबारा खेलना नहीं चाहता लेकिन मैं गेंद की तरफ नहीं देखना चाहता था या और फुटबाॅल मैच नहीं देखना चाहता था।’’ पेरिस सेंट जर्मेन का यह फारवर्ड अपने नेमार पराइया ग्रांडे इंस्टीट्यूट पर बोल रहा था जहां रेड बुल नेमार जूनियर फाइव्स (फाइव ए साइड फुटबाल) टूर्नामेंट खेला जा रहा है।

नेमार के साथ इस दौरान उनका छह साल का बेटा डेवि लुका भी मौजूद था। नेमार ने कहा, ‘‘मैं गम में था, मैं बेहद दुखी था लेकिन दुख धीरे धीरे खत्म हो गया। मेरे पास मेरा बेटा, मेरा परिवार, मेरे मित्र हैं और वे मुझे दुख में नहीं देखना चाहते थे। दुखी होने से अधिक मेरा पास खुश होने का कारण है।’’
 

.
.
.
.
.