Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : क्रिकेट आइकन महेंद्र सिंह धोनी के संरक्षक और रांची में पहली टर्फ पिच तैयार करने वाले देवल सहाय का मंगलवार को एक अस्पताल में निधन हो गया। जानकारी के मुताबिक उनके शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था जिससे उनकी मौत हो गई। सहाय (73 वर्षीय) अपनी पत्नी, बेटी और बेटे के साथ रांची में रहते थे। 

PunjabKesari

सहाय को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी जिसके बाद उन्हें अस्पताल में दाखिल करवाया गया। इसके बाद उन्हें 9 अक्तूबर को अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी। सहाय के बेटे ने बताया कि 10 दिन घर में रहने के बाद उन्हें फिर से अस्पताल में दाखिल करवाया गया और आज सुबह करीब 3 बजे उनका निधन होगा। सहाय की बेटी जोकि अमरीका में रहती है इन दिनों रांची में थी। सहाय का अंतिम संस्कार दोपहर एक बजे रांची में होगा। 

इलेक्ट्रिकल इंजीनियर सहाय रांची में पहली टर्फ पिच तैयार करने में सहायक थे। वह पहले MECON में चीफ इंजीनियर थे और फिर सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड में चले गए जहां से वे निदेशक (कार्मिक) के रूप में सेवानिवृत्त हुए। धोनी के पिता ने भी MECON में काम किया था। 

जब वह सीसीएल में थे तो उन्होंने धोनी को वजीफे पर रखा और उन्हें टर्फ पिचों पर खेलने का पहला अवसर प्रदान किया। सहाय के चरित्र के बारे में धोनी की जीवनी पर बनी बॉलीवुड फिल्म एम.एस. धोनी : द अनटोल्ड स्टोरी में भी दिखाया गया है। 

.
.
.
.
.