Sports

नई दिल्ली: भारत के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (Shikhar Dhawan) ने अब तक टेस्ट टीम में वापसी की उम्मीद नहीं छोड़ी है और अपनी दावेदारी मजबूत करने के लिए उनकी नजरें  आगामी रणजी ट्राॅफी (Ranji Trophy) में बड़ी पारियां खेलने पर टिकी हैं। मौजूदा सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी (Syed Mushtaq Ali Trophy) के बाद शिखर धवन लंबे प्रारूप में अपने करियर को पटरी में लाने की कवायद के  तहत रणजी ट्राॅफी में खेलेंगे। 

शिखर धवन का टेस्ट क्रिकेट में वापसी पर बयान 

PunjabKesari, shikhar dhawan photo, shikhar dhawan image
टेस्ट क्रिकेट में वापसी के बारे में पूछे जाने पर धवन ने यहां एक कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘बेशक, मुझे क्रिकेट खेलना पसंद है और हमेशा सुनिश्चित करता हूं कि ध्यान प्रक्रिया पर हो और इसके बाद सभी चीजें अपने आप मिल जाती हैं। मैं टी20 खेलूंगा (मुश्ताक अली)। मैं रणजी ट्राॅफी में भी खेलूंगा और अगर मैं रन बनाता हूं तो मुझे पता है कि मैं वापसी (टेस्ट क्रिकेट में) करने का दावेदार बना रहूंगा।' यह पूछने पर कि वह इस समय अपने करियर को किस तरह देखते हैं, 33 साल के धवन ने कहा, ‘मैं काफी संतुष्ट हूं। मैं लगातार अच्छा प्रदर्शन करना चाहता हूं। मेरे अंदर ऊर्जा का स्तर और प्रतिबद्धता उतनी ही है जितनी रणजी ट्राफी खेलने के दौरान होती थी (भारत के लिए खेलने से पहले)।'

शिखर धवन की खराब फॉर्म पर उठे सवाल 

अंगूठे की चोट के कारण विश्व कप से बाहर होने वाले धवन वापसी करने के बाद से बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे हैं। बांग्लादेश के खिलाफ हाल में संपन्न टी-20 श्रृंखला में धवन ने एक मैच में 42 गेंद में 41 रन बनाए थे जिससे उनकी फार्म और स्ट्राइक रेट पर सवाल उठे थे। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने स्वीकार किया कि उस मैच में वह अधिक आक्रामक रवैया अपना सकते थे। इस सलामी बल्लेबाज ने बल्लेबाजी और विकेटकीपिंग के लिए आलोचना का सामना कर रहे ऋषभ पंत (Rishabh Pant) का भी बचाव किया। उन्होंने कहा, ‘हमेशा पंत के बारे में ही क्यों पूछा जाता है। मैं आपको बता दूं कि प्रत्येक खिलाड़ी ऐसे चरण से गुजरता है जब वह रन नहीं बना पाता। ऐसा सिर्फ उसके साथ नहीं है।'

.
.
.
.
.