Sports

नई दिल्ली : चेन्नई सुपर किंग्स को रोमांचक मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स के हाथों हार झेलनी पड़ी। आखिरी ओवर में दिल्ली को जीत के लिए 16 रन चाहिए थे। तभी धोनी ने जडेजा को गेंद थमा दी। जडेजा की ओवर में अक्षर पटेल ने तीन छक्के जड़ अपनी टीम को जीत दिला दी। इस दौरान सोशल मीडिया पर धोनी का विरोध हुआ। फैंस का कहना था कि आखिरी ओवर ब्रावो को मिलनी चाहिए थी। यही सवाल जब पोस्ट मैच प्रेजेंटेशन के दौरान धोनी से पूछा गया तो उन्होंने कहा- डीजे ब्रावो फिट नहीं थे, वह बाहर गए और वास्तव में वापस आने में सक्षम नहीं थे।

धोनी बोले- ब्रावो हमारे लिए डैथ ओवरों में अच्छी गेंदबाजी करते हैं। लेकिन वह 20वें ओवर में उपलब्ध नहीं थे। हमारे मुख्य गेंदबाज के ओवर नहीं बचे थे यही कारण था कि हमें जडेजा से गेंदबाजी करानी पड़ी। हालांकि हमारे पास कर्ण का भी विकल्प था लेकिन मैं जड्डू के साथ आगे बढ़ गया। शायद यह काफी नहीं था। धोनी बोले- शिखर का विकेट महत्वपूर्ण था, हमने उन्हें कई बार ड्रॉप किया। अगर वह बल्लेबाजी करता है तो स्कोरबोर्ड भी आगे बढ़ता रहता है। वह अपने मौके लेता रहता है। अगर वह क्रीज पर है, तो वह हमेशा अच्छा स्ट्राइक रेट बनाए रखता है।

धोनी ने कहा- दूसरी पारी में विकेट ने थोड़ा बेहतर व्यवहार किया, यह थोड़ा बेहतर हुआ। इससे बल्लेबाजी करना आसान हो गई। लेकिन कुल मिलाकर हम शिखर से वास्तव में श्रेय नहीं ले सकते, उन्होंने वास्तव में अच्छी बल्लेबाजी की और अन्य बल्लेबाजों ने वास्तव में उनका समर्थन किया। यहां पर्याप्त ओस थी। इसी कारण पहली और दूसरी पारी के बीच अंतर पैदा हो गया।

.
.
.
.
.