Sports

नई दिल्ली : ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर डेविड वार्नर के लिए एशेज सीरीज एक बार फिर से बुरा फॉर्म लेकर आ गई है। पहले दो टेस्ट मैचों में महज 18 रन बनाने वाले वार्नर लीड्स के मैदान पर भले ही एक फिफ्टी लगाकर कुछ आत्मविश्वास में नजर आए लेकिन मैनचैस्टर टेस्ट आते-आते उनका यह विश्वास भी डगमगा गए। मैनचैस्टर टेस्ट के दोनों पारियों में 0 पर आऊट होने वाले डेविड वार्नर संभवत: ऐसे पहले क्रिकेटर हो गए हैं जो टेस्ट क्रिकेटर की लगातार तीन पारियों में 0 पर आऊट हुए।

खास बात यह है कि एशेज सीरीज के दौरान इंगलैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ही वार्नर के लिए सिरदर्दी बने हुए हैं। सीरीज में ब्रॉड ने डेविड वार्नर को 93 गेंदें फेंकी हैं। जिसमें वह 6 बार ऑस्ट्रेलियाई ओपनर को आऊट करने में सफल रहे हैं। खास बात यह है कि इन 93 गेंदों में ब्रॉड ने 80 डॉट बॉल भी फेंकी। 

एशेज-2019 के दौरान वार्नर
2, 8 बर्मिंघम
3, 5 लॉडर््स
61, 0 लीड्स
0, 0 मैनचैस्टर

आईपीएल-विश्व कप में टॉप स्कोरर रहे थे वार्नर
बॉल टेंपरिंग विवाद के चलते क्रिकेट से एक साल दूर रहे डेविड वार्नर ने आईपीएल के जरिए शानदार शुरुआत की थी। वार्नर आईपीएल 2019 में टॉप स्कोरर रहे थे। इस दौरान क्रिकेट विश्व कप के दौरान भी वह भारतीय सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा के बाद टॉप स्कोरर रहे थे। लेकिन जैसे ही एशेज सीरीज आई वार्नर का बल्ला फिर से शांत हो गया। 

.
.
.
.
.