Sports

 

बेलो होरिजोंटे : फुटबाल जगत की दो दिग्गज टीमों ब्राजील और अर्जेंटीना के बीच मंगलवार को कोपा अमेरिका कप फुटबाल टूर्नामेंट के पहले सेमीफाइनल में विस्फोटक मुकाबला होगा। ब्राजील ने पैराग्वे को पेनल्टी शूटआउट में 4-3 से और अर्जेंटीना ने वेनेजुएला को 2-0 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई है। ब्राजील इस टूर्नामेंट में 2007 के बाद से अपने पहले खिताब की तलाश में है और वह अपने घर में आधिकारिक मैचों में अर्जेंटीना के खिलाफ अपराजित है।

अर्जेंटीना ने आखिरी बार कोपा अमेरिका कप 1983 में जीता था। इस मुकाबले में सभी निगाहें अर्जेंटीना के सुपर स्टार लियोनल मैसी पर लगी रहेंगी। टूर्नामेंट का दूसरा सेमीफाइनल दो बार के गत चैंपियन चिली और चौंकाने वाले परिणाम दे रही पेरू के बीच खेला जाएगा। ग्रुप चरण के मैचों और क्वाटर्रफाइनल में ब्राजील का प्रदर्शन उतना स्तरीय नहीं रहा जिससे उससे उम्मीद की जाती है। कुछ मैचों में ब्राजील को अपने ही दर्शकों की हूटिंग का सामना करना पड़ा था। अर्जेंटीना की टीम भी शुरूआत में ही एलिमिनेशन से बच गयी थी। मंगलवार का यह मुकाबला पहले से ही हाउसफुल हो चुका है। ब्राजील ने 2007 में कोपा अमेरिका का खिताब जीतने में अर्जेंटीना को 3-0 से हराया था। यह मैसी का राष्ट्रीय टीम के साथ पहला बड़ा फाइनल था लेकिन वह अपनी टीम को खिताब नहीं दिला पाए थे।

ब्राजील के डिफेंडर तियागो सिल्वा ने कहा, ‘अर्जेंटीना हमेशा से ही एक खतरनाक टीम रही है और हमें उसके खिलाफ पूरी सावधानी बरतनी होगी। हम इस टीम का काफी सम्मान करते हैं।' यह मैच मिनेरो के उसी स्टेडियम में खेला जाएगा जहां ब्राजील को जर्मनी ने 2014 विश्वकप के सेमीफाइनल में 7-1 की शर्मनाक हार दी थी। सिल्वा ने कहा, ‘हम उस मैच को आजतक नहीं भूल पाये हैं। वह एक डरावने सपने की तरह था। लेकिन तब से अब तक स्थिति बदल चुकी है और हमारा सामना अर्जेंटीना से है। हमें अपने खेल पर ध्यान देना होगा क्योंकि यह एक ऐसी टीम है जिसमें दुनिया का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी मौजूद है।'        

ब्राजील का मिनेरो में आखिरी मैच 2018 विश्वकप के लिये क्वालिफाइंग मैच था जो उन्होंने मैसी की टीम के खिलाफ खेला था और उसमें 3-0 से जीत हासिल की थी। इनमें से एक गोल नेमार ने किया था जो टखने की चोट के कारण इस वर्ष कोपा अमेरिका में नहीं खेल पाये हैं। अर्जेंटीना के स्टार खिलाड़ी मैसी ने भी अपने प्रतिद्वंद्वी के लिये कहा,‘‘ ब्राजील की टीम में ऐसे खिलाड़ी हैं जो मैच में अंतर पैदा कर देते हैं। हम अपने ग्रुप में शीर्ष पर रहना चाहते थे ताकि हमें ब्राजील से न भिड़ना पड़े। लेकिन हमारी टीम ग्रुप में दूसरे स्थान पर रही और अब हमें ब्राजील का सामना करना पड़ रहा है जो एक बेहतरीन टीम है।' अर्जेंटीना की टीम को सीनियर स्तर पर 26 साल का खिताबी सूखा समाप्त करने के लिये ब्राजील की चुनौती से पार पाना होगा। अर्जेंटीना पिछले दो कोपा अमेरिका फाइनल में चिली के खिलाफ पेनल्टी शूटआउट में हारा है।

.
.
.
.
.