Sports

बेंगलुरु : भारतीय पुरुष टीम के अनुभवी फॉरवर्ड रमनदीप सिंह का कहना है कि कोरोना के बावजूद देश भर में हॉकी गतिविधियां शुरु होना वाकई सुखद है। कोरोना वायरस के कारण गत मार्च से देशभर में हॉकी गतिविधियां ठप्प पड़ी हुई थी लेकिन लॉकडाउन में ढील देने के बाद इसकी शुरुआत हुई थी। हालांकि इसके लिए हॉकी इंडिया ने मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी की थी। रमनदीप बेंगलुरु स्थित भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) में राष्ट्रीय कोचिंग शिविर का हिस्सा हैं।

रमनदीप ने कहा- स्थानीय स्तर पर कई महीनों बाद हॉकी गतिविधियां शुरु होना सुखद है। कई युवा खिलाडिय़ों ने मुझे संदेश भेजे और अपनी उत्सुकता जाहिर की तथा बताया कि इतने दिनों के अंतराल के बाद हॉकी शुरु होने पर उनके दिमाग में क्या चल रहा है। हालांकि सभी खिलाडिय़ों के लिए यह जरुरी है कि वे राज्य सरकार और हॉकी इंडिया द्वारा जारी एसओपी का पालन करें।

फॉरवर्ड ने स्थानीय स्तर पर टूर्नामेंट शुरु होने पर भी उत्सुकता जाहिर की। उन्होंने कहा- मैंने सुना कि हाल ही में जम्मू-कश्मीर में स्थानीय स्तर का टूर्नामेंट किया गया था जो काफी अच्छी बात है। पंजाब में भी वार्षिक स्थानीय टूर्नामेंट का आयोजन किया गया है। यह देखना भी अच्छा है कि हॉकी इंडिया खेल की सुरक्षित वापसी के लिए लोगों को प्रेरित कर रही है। यह अच्छा संकेत है और मैं खिलाडिय़ों से अपील करता हूं कि वह अपनी जिम्मेदारी निभाएं और सुरक्षित रहें।

हॉकी टीम के कुछ खिलाड़ी भी कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे लेकिन वे अब स्वस्थ हो चुके हैं। इस पर रमनदीप ने कहा- हम भाग्यशाली हैं जिन्हें ऐसे कठिन समय में हॉकी इंडिया और साई से काफी समर्थन मिला। उन्होंने हमें सभी बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करायी। जिन खिलाड़यिों को कोरोना हुआ था वे ठीक होकर वापस गतिविधियां शुरु कर चुके हैं। हम फिलहाल सामान्य गतिविधियां कर रहे हैं लेकिन अक्टूबर से अपना अभ्यास बढ़ाएंगे।

उन्होंने कहा- मुझे नहीं लगता कि मैं इस साल अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं खेलने के लिए चिंतित हूं। हमारे लिए फिलहाल यह जरुरी है कि हम अपनी पुरानी फिटनेस और फॉर्म हासिल करें। जब हम ऐसा कर लेंगे तो आंतरिक मैच भी खेल पाएंगे।

.
.
.
.
.