Sports

भुवनेश्वर : भारतीय महिला हॉकी टीम की अनुभवी डिफेंडर और दो बार की ओलिम्पियन निक्की प्रधान ने कहा है कि टीम की मुख्य कोच जेनेके शोपमैन ने हर छोटी-छोटी बातों पर प्रकाश डाला, जिससे खिलाडिय़ों के प्रदर्शन में बड़ा बदलाव आया है। निक्की ने कहा कि जेनेके छोटे-छोटे विवरण साझा करती हैं जो हमारे व्यक्तिगत प्रदर्शन में बड़ा बदलाव ला सकते हैं। हम बहुत सारे वीडियो विश्लेषण का इस्तेमाल करते हैं, न केवल हमारे विरोधियों के, बल्कि हमारे अपने व्यक्तिगत प्रदर्शन के भी और ये हमें हमारे प्रदर्शन में कमी और मजबूत चीज के बारे में बताता है। जेनेके खुद एक डिफेंडर के रूप में उच्चतम स्तर पर खेली हैं और वह महान विशेषज्ञता लाती हैं। मुझे लगता है कि अभी भी कुछ कमियां हैं। हमें अपने डिफेंस में काम करने की जरूरत है और हम प्रत्येक मैच में सुधार करने की कोशिश कर रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि भारतीय महिला हॉकी टीम इस साल पहली बार एफआईएच हॉकी प्रो लीग टूर्नामेंट खेल रही है और उसने मस्कट में चीन के खिलाफ दो बड़ी जीत के साथ अपने अभियान की शुरुआत की है। भारतीय टीम ने इसके बाद दुनिया की नंबर छह टीम स्पेन के खिलाफ दो प्रो लीग मैच खेले, जिसमें एक हारा और एक जीता।

अनुभवी डिफेंडर निक्की ने कहा कि हम पहली बार प्रो लीग में खेलने के लिए सच में उत्साहित हैं और यह शायद सबसे अच्छी चीज थी जो इस साल हमारे साथ हो सकती थी, जहां हम विश्व कप और एशियाई खेल खेलेंगे। दुनिया की शीर्ष टीमों के खिलाफ मैच हमें अच्छी स्थिति में रखेंगे। भारतीय टीम अब 12 और 13 मार्च को भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में एफआईएच महिला हॉकी प्रो लीग के दो घरेलू मैचों में जर्मनी से भिड़ेगी।

निक्की ने इस बारे में कहा कि जर्मनी एक मजबूत टीम है और बेल्जियम के खिलाफ अपने शुरुआती मैचों में हारना उन्हें हमारे खिलाफ जीतने के लिए और अधिक द्दढ़ बनाएगा, इसलिए हम उसे हल्के में नहीं लेना चाहते हैं। हमने उसके खिलाफ पिछले साल ओलंपिक से पहले मैच खेला था और हम उसके खेल और स्वभाव को समझते हैं। जर्मनी के खिलाफ ये मैच काफी मुश्किल होंगे, लेकिन हम चुनौती के लिए तैयार हैं।

.
.
.
.
.