Sports

अक्टूबर: भारतीय गेंदबाजी कोच भरत अरूण अपने गेंदबाजों के प्रदर्शन से खुश हैं कि उन्होंने अपने कौशल के बूते पिच की प्रकृति का असर खुद के प्रदर्शन पर नहीं पड़ने दिया। मोहम्म्द शमी ने विशाखापत्तनम में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में दूसरी पारी में नीची और धीमी पिच पर शानदार प्रदर्शन किया जबकि इसके स्पिनरों के मुफीद होने की उम्मीद थी जिस पर रविचंद्रन अश्विन ने तब सात विकेट हासिल किए जब बल्लेबाजों को मदद मिल रही थी।

PunjabKesari
अरूण ने गेंदबाजी इकाई के साथ बेहतरीन प्रदर्शन किया है, उन्होंने मंगलवार को पत्रकारों से कहा, ‘हमें जो विकेट मिलते हैं, हम उसकी मांग नहीं करते। हमें दुनिया की नंबर एक टीम बनने के लिए जो भी परिस्थितियां मिले, उन्हें घरेलू हालात के रूप में स्वीकार करना होगा।' उन्होंने कहा कि परिस्थितियों पर निर्भर रहने के बजाय हम कौशल पर ध्यान दे रहे हैं। पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज ने आगे कहा, ‘जब हम विदेश जाते हैं तो हम विकेट के ऊपर ध्यान नहीं देते। हम कहते हैं कि हम इसे घरेलू परिस्थितियों के रूप में देखेंगे क्योंकि विकेट दोनों टीमों के लिये समान ही है। हम विकेट पर ध्यान देने के बजाय अपनी गेंदबाजी पर काम करेंगे।' 

.
.
.
.
.