Sports

बेंगलुरु : भारतीय महिला हॉकी टीम की फारवार्ड नवनीत कौर ने कहा है कि वह इस गर्मी अपने पहले ओलंपिक कार्यक्रम में खेलने के लिए और इंतजार नहीं कर सकती हैं और उन्हें विश्वास है कि उनकी टीम टोक्यो में यादगार यात्रा करेगी। 25 वर्षीय नवनीत फिलहाल भारतीय खेल प्राधिकरण (एसएआई) की ओर से बेंगलुरु में आयोजित राष्ट्रीय शिविर में ओलंपिक की तैयारी कर रही हैं। नवनीत ने गुरुवार को एक बयान में कहा कि मैं सच में ओलंपिक खेलों के लिए 16 सदस्यीय टीम में जगह बनाने को लेकर आश्वस्त हूं और मैं ओलंपिक में खेलने को लेकर उत्साहित हूं। 

भारतीय महिला टीम रियो में पहली बार ओलंपिक खेल रही थी और उसे उस वक्त ओलंपिक जैसी बड़ी प्रतियोगिता में शीर्ष टीमों के खिलाफ खेलने का अनुभव नहीं था, लेकिन अब की बात और है। हम अपने फिटनेस स्तर में सुधार लाने और सामरिक रूप से बेहतर होने के लिए बहुत मेहनत कर रहे हैं। मैं ओलंपिक में जगह बनाने और अपने बचपन के सपने को साकार करने पर ध्यान केंद्रित कर रही हूं। उल्लेखनीय है कि नवनीत ने अब तक भारत की तरफ से 79 मैच खेले हैं और वह अग्रिम पंक्ति में खेलने वाले यानी फारवर्ड खिलाड़ियों की जिम्मेदारी से अच्छी तरह वाकिफ हैं। 

इस बारे में उन्होंने कहा कि यकीनन लय बनाने की जिम्मेदारी हम फारवर्ड खिलाड़ियों पर होती है। हमें साल के शुरू में मैच अभ्यास का मौका मिला और इस दौरान हुए दौरों से हमें काफी सबक भी मिले। गोल करना टीम की सामूहिक जिम्मेदारी होती है और हम इस विभाग में लगातार बेहतर करने पर ध्यान दे रहे हैं। मुझे पूरा विश्वास है कि टीम बड़ी प्रतियोगिताओं में अच्छा प्रदर्शन करेगी।

कप्तान रानी, सविता, नवजोत कौर और सुशीला जैसे दिग्गज खिलाड़यिों के अलावा हरियाणा की यह फारवडर् खिलाड़ी भी कुछ हफ्तों पहले कोरोना से संक्रमित हो गई थी, हालांकि अच्छी बात है कि खिलाड़यिों ने तेजी से सुधार किया और अपनी क्वारंटीन अवधि समाप्त करने के बाद प्रशिक्षण में वापस आ गए। इस पर नवनीत ने कहा कि महामारी के कारण हम पहले ही कई मैच अभ्यास से चूक गए हैं। अधिक समय गंवाना निराशाजनक था, लेकिन इस मुश्किल समय के दौरान अपनी सुरक्षा सबसे पहले आती है और मैं हॉकी इंडिया और प्रबंधन को धन्यवाद देना चाहती हूं कि उन्होंने मुझे और मेरे साथियों को जल्दी ठीक होने में मदद की।

.
.
.
.
.